UP Board Exam 2021: टल गयी परीक्षाएं, जानिए क्या CBSE की तरह UP बोर्ड 10वीं के छात्र होंगे प्रमोट

google image

प्रदेश भर में बढ़ते कोरोना कहर को देखते हुए सरकार ने अग्रिम आदेश तक यूपी बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है। वहीं उच्च शिक्षण संस्थानों में भी 15 मई तक किसी भी प्रकार की परीक्षा आयोजित नहीं की जायेगी। इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश जारी कर दिए हैं। मुख्यमंत्री गुरूवार को टीम इलेवन के साथ बैठक कर रहे थे। बैठक में उन्होंने कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए स्पष्ट किया कि 15 मई तक उच्च शिक्षण संस्थानों में परीक्षाएं नहीं होंगी जबकि यूपी बोर्ड दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं 20 मई के बाद करायी जायेंगी। यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर माध्यमिक शिक्षा परिषद को भी आदेश जारी कर दिया गया है। ऐसे में परीक्षा का अगला शेड्यूल शासन की अनुमति के बाद ही जारी किया जायेगा। बता दें कि यूपी बोर्ड परीक्षाओं को इस साल तीसरी बार टाला गया है। इससे पहले मार्च में तिथि तय की गयी थी, उसके बाद 24 अप्रैल का शेड्यूल जारी किया गया था। बाद में कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद परीक्षाओं का शेड्यूल 8 मई निर्धारित किया गया। इसके बाद अब अग्रिम आदेश तक परीक्षा पर रोक लगा दी गयी है। वहीं दूसरी ओर कक्षा एक से 12 तक के भी सभी स्कूलों को बंद किया गया है। इस बार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनो परीक्षा में 56 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे। हालांकि परीक्षा का नया शेड्यूल 10 मई के बाद जारी हो सकता है।

उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने भी दी जानकारी
यूपी बोर्ड परीक्षाओं को टाले जाने की जानकारी उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने भी दी है। डॉ शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्णय के बाद विभाग के उच्च अधिकारियों को भी जानकारी भेज दी गयी है। उप मुख्यमंत्री गुरूवार को बरेली के विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के मौके पर उपस्थित थे, जहां मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि परीक्षाओं को टाला गया है।

सीधे प्रमोट नहीं होंगे दसवीं के छात्र
यूपी बोर्ड दसवीं के छात्रों को सीधे प्रमोट नहीं किया जायेगा, इसं सबंध अधिकारियों ने स्पष्ट किया शासन की ओर से परीक्षाओं को स्थगित किया गया है, लेकिन दसवीं के बच्चों सीधे प्रमोट करने का कोई दिशा निर्देश नहीं दिया है। बता दें कि केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से दसवीं के छात्रों को सीधे प्रमोट करने की घोषणा की गयी है, ऐसे में यूपी बोर्ड को लेकर भी चर्चायें बहुत तेज होने लगी थी।