लखनऊ समेत यूपी के कई शहरों में लागू हुआ नाइट कर्फ्यू, पुलिस ने बंद करायी दुकानें , देखिए तस्वीरें

लखनऊ समेत प्रदेश के पांच शहरों में रात्रि नौ बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लाग कर दिया गया है। इस संबंध में लखनऊ पुलिस ने हजरतगंज समेत सभी बाजारों को तय समय के मुताबिक रात्रि नौ बजे से बंद करवा दिया है। ऐसा क्रम अब 16 अप्रैल तक जारी रहेगा। बता दें कि  इसं संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ  ने बीते बुधवार को पश्चिम बंगाल से लौटने के बाद उच्च स्त्ररीय बैठक कर आदेश जारी किए थे। मुख्यमंत्री जिन शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया है उसमें लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी व कानपुर को शामिल किया गया है।  ये कर्फ्यू 16 अप्रैल तक जारी रहेगा। इसमें रात्रि नौ बजे से अगले सुबह 6 बजे तक सब बंद रहेगा, इस दौरान सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल को अलर्ट किया गया है। साथ ही मनमानी करने वालों पर कार्रवाई के भी निर्देश दिए गये हैं।

http://भारतीय थल सेना प्रमुख पांच दिवसीय पहुंचे बग्लादेश के दौरे पर, रक्षा सहयोग समेत इन वजहों से किया दौरा

प्रदेश में तेजी से पैर पसारते जा रहे कोरोना संक्रमण ने फिर पहले जैसे ही हालात पैदा कर दिए हैं। उत्तर प्रदेश के हालात की समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि जिन जिलों में प्रतिदिन सौ से अधिक मामले आ रहे हैं या 500 से अधिक सक्रिय मामले हैं, वहां नाइट कर्फ्यू लगाने और माध्यमिक स्कूल बंद करने पर डीएम-एसपी आपसी समन्वय से फैसला ले सकते हैं।

इन जिलों में भी लग सकता है कर्फ्यू

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजधानी लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर व मुरादाबाद के जिलाधिकारियों से कोरोना वायरस संक्रमण के हालात की जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने कहा कि जिन जिलों में कोविड-19 के प्रतिदिन सौ से अधिक मामले आ रहे हैं या 500 से ज्यादा सक्रिय केस हैं, उन जिलों के जिलाधिकारी परीक्षाओं को छोड़कर माध्यमिक विद्यालयों में अवकाश के संबंध में स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लें।

लखनऊ के हजरगंज में रात्रि में नाइट करफ्यू लगा दिया गया है

जिलों का भ्रमण करेंगें चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य मंत्री

 सीएम योगी आदित्यनाथ ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री से जिलों का भ्रमण कर चिकित्सा व्यवस्था की मौके पर समीक्षा करने की अपेक्षा की। उन्होंने कहा कि मंत्रियों के भ्रमण के दौरान चिकित्सा शिक्षा व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी उपस्थित रहें। टीकाकरण की गति बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि शासन का प्रयास प्रतिदिन पांच से सात लाख वैक्सीन उपलब्ध कराने का है।