यूपी में सीबीएसई दसवीं के छात्रों को दोबारा नही देना होगा पेपर, इंटर अर्थशास्त्र का पेपर 25 अप्रैल को

लखनऊ। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई से दसवीं की परीक्षा दे रहे यूपी के छात्रों के लिए राहत भरी खबर है। उन्हें अब गणित की परीक्षा नह देनी पड़ेगी। ये परीक्षा जब भी आयोजित होगी दिल्ली और हरियाणा के ही छात्रों को देनी होगी। लेकिन इंटरमीडिएट के छात्रों को अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा 25 अप्रैल को देनी होगी। लेकिन पेपर लीक करने के असली आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। यूपी में दसवीं में करीब 13 हजार और बारहवीं में इस बार 12 हजार से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे हैं। माना जा रहा है देश भर में अलग-अलग विरोध के बाद सीबीएसई बोर्ड ने बीच का रास्ता निकालने का प्रयास किया है। ऐसे में सवाल यही है कि आरोपी कब पकड़े जायेंगे और उन पर कार्रवाई कब होगी?
सीबीएसई के अधिकारियों को बचाने की तैयारी तो नह
पेपर लीक होने के बाद से परीक्षा नियंत्रक के अलावा किसी भी सीबीएसई अधिकारियों से दिल्ली पुलिस ने पूछताछ नह की है। जबकि जांच में ये भी आ रहा है कि पेपर लीक होने की जानकारी सीबीएसई अधिकारियों को मिल चुकी थी। बावजूद उसके पेपर कराया गया। हालांकि सीबीएसई ने ये जरूर मान लिया है कि पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वह दिल्ली और हरियाणा से बाहर नह गया है। सीबीएसई अधिकारी भी ये भी दावा कर रहे हैं ये शुरूआती जांच में पता चला है। लेकिन जांच के दौरान इस बात की जानकारी किसी को नह मिली कि पेपर लीक कहां से हुआ है।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने दोबारा परीक्षा की बतायी तिथि
सीबीएसई बोर्ड की देश भर में फजीहत के बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने शुक्रवार को 12वीं अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा कराये जाने की स्थिति साफ कर दी है। जिसमें ये कहा गया कि परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित की जायेगी। लेकिन ये स्थिति साफ नही की ये परीक्षा किन किन राज्यों में करायी जायेगी।
1० वीं की परीक्षा पर 15 दिन में होगा निर्णय
सीबीएसई बोर्ड सचिव अनिल स्वरूप ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में बताया कि शुरूआती जांच ेंं पता चला है कि पेपर लीक होने के बाद दिल्ली और हरियाणा के बाहर नहीं जा सका है। ऐसे में 1०वीं े गणित विषय की परीक्षा दोबारा कराने की जरूरत हुई तो ेवल दिल्ली और हरियाणा में ही आयोजित की जाएगी। इस पर अगले 15 दिनों में निर्णय ले लिया जाएगा। 1०वीं की परीक्षा जुलाई में हो सकती है लेकिन तारिख की घोषणा बाद में होगी।
एनआरआई छात्रों की दोबारा नही होगी परीक्षा
सीबीएसई ने ये भी निर्णय लिया है कि एनआरआई छात्रों की दोबारा परीक्षा नह ली जायेगी। इस पर सीबीएसई बोर्ड सचिव का कहना है कि भारत से बाहर कोई पर्चा लीक नहीं हुआ, इसलिए देश के बाहर दोबारा परीक्षाएं नहीं करायी जाएंगी। सचिव ने कहा कि भारत से बाहर सीबीएसई परीक्षाओं में शामिल होने वाले छातो के लिए प्रनपत्र अलग होते हैं। उन्होंने कहा कि जांच चलती रहेगी।
अब तक 35 से पूछताछ लेकिन मुख्य आरोपी पकड़ से दूर
दिल्ली पुलिस ने इस मामले के खुलासे के लिए अभी तक 35 संदिग्धों को अलग-अलग ठिकानों से पकड़कर पूछताछ कर चुकी है लेकिन कोई मजबूत तथ्य हाथ नह लगा है। ऐसे में क्या असली आरोपी गिरफ्तार होंगे ये अभी जांच का विषय है। गौरतलब है कि 29 मार्च को सीबीएसई ने 1०वीं की गणित की और 12वीं की इकोनॉमिक्स की परीक्षा फिर कराने का ऐलान किया था। सीबीएसई ने कहा था कि नई तारीखों का ऐलान एक हफ्ते भीतर किया जाएगा।
परीक्षा नियंत्रक से पूछताछ के लिए पुलिस को करना पड़ा इंतजार
सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा पैटर्न पुलिस को भी समझने में समय लग गया। गुरुवा को पुलिस की ओर से जांच के बाद ये लगा कि सीबीएसई की पीक्षा का पैटर्न क्या इसके लिए परीक्षा नियंत्रक से बात करनी चाहिए। शुक्रवार को जब परीक्षा नियंत्रक से पुलिस मिलने पहुंची तो उसे इंतजार करना पड़ गया। दो घंटे की पूछताछ के बाद पुलिस खाली हाथ ही लौट गयी।

शुरुआती जांच में पता चला है कि दसवीं गणित का पेपर दिल्ली और हरियाणा से बाहर नह पहुंच सका है। ऐसे में जब भी परीक्षा होगी तो इन्ह दोनो राज्यों में ही होगी। वह अर्थशास्त्र 12वीं की परीक्षा के लिए 25 अप्रैल तिथि घोषित की गयी है। लेकिन असली आरोपियों के पकड़े जाने तक जांच जारी रहेगी।
अनिल स्वरूप सचिव सीबीएसई बोर्ड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − seventeen =