शहर शर्मिन्दा है, दरिन्दगी का शिकार हुई कैंसर पीड़िता की मंत्री ने ली सुध

लखनऊ। शनिवार की रात गैंगरेप का शिकार हुई कैंसर पीड़ित नाबालिग लड़की सुध 37 घंटो के बाद मंत्री स्वाति सिंह ने सुध ली और मौके पर पहुंचकर पीड़िता का हालचाल जाना। साथ उन्होंने पीड़ित परिवार को हर संभव मदद करने का भी आश्वासन दिया। नाबालिग के साथ हुई इस घटना के बाद जहां शहर शर्मिन्दा है। वहीं पीडिèता ने जिससे मदद मांगी उसने उसे नहीं बख्शा इस बात से भी लोग हैरान हैं। सोमवार को मंत्री स्वाति सिह ने मुलाकात बच्ची का हालचाल जाना। वहीं पीड़िता के घर पहुंची पुलिस को मंत्री ने फटकार भी लगायी।
36 घंटे तक नहीं कराया मेडिकल, मंत्री ने लगायी फटकार
घटना के 36 घंटे बाद भी मंत्री को जब पता चला कि पीड़िता का अभी तक मेडिकल भी नहीं कराया गया है तो इस पर मंत्री ने पुलिस अधिकारियों को जमकर फटकार लगायी। साथ ही डीजीपी और सीएम से शिकायत करने की चेतावनी भी दी। जिसके बाद पुलिस ने पीड़िता को मेडिकल के लिए भ्ोज दिया।

जिससे मदद की भीख मांगी उसने भी किया दुष्कर्म
लखनऊ। एक ही दिन में नाबालिग कैंसर पीड़िता से पहले एक परिचित ने दुष्कर्म किया बाद में पीड़िता ने जिस राहगीर से मदद मांगी उसने भी उसके साथ दुष्कर्म किया। सरोजनी नगर इलाके में बीते शनिवार रात ब्लड कैंसर से पीड़ित नाबालिग लड़की को दो दोस्तों ने पहले घुमाने के लिए बाइक पर बैठाया बाद में उसके साथ दुष्कर्म किया फिर उसे एक सुनसान सड़क पर छोड़कर भाग खड़े हुए। इस बीच वहां से गुजर रहे एक व्यक्ति से पीड़िता ने मदद मांगी तो उसने भी मदद का भरोसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

पुलिस के मुताबिक ये है घटना

इस बारे में एएसपी सिटी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया पीडिता सरोजनीनगर इलाके के एक गांव में रहने वाली 14 वर्षीय ब्लड कैंसर पीड़ित लड़की शनिवार शाम 4:3० बजे घर से कुछ दूर स्थित चिल्लावां बाजार गई थी। वहां पड़ोस के गांव रहीमाबाद निवासी शुभम अपने एक दोस्त के साथ मिला। शुभम से लड़की की दोस्ती थी। फिर घूमने के बहाने शुभम ने लड़की को मोटरइसाइिकल पर बैठाया और एक दोस्त को अपने साथ में लिया, उसके बाद एक सुनसान कोठरी में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता को फिर सड़क किनारे लाकर छोड़ दिया। रात्रि के करीब 11 बजे थ्ो इसी एक व्यक्ति जिसने अपना परिचय रायसिंह ख्ोड़ा निवासी वीरेन्द्र यादव के रूप में दिया। पीड़िता ने उससे मदद मांगी तो उसने भी पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता जब किसी तरह से अपने घर पहुंची तो माता पिता को आप बीती बतायी। जिसके बाद परिजनों ने आरोपियों को खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी। वहीं मुख्य आरोपी शुभम फरार हो गया, जबकि उसके दोस्त सुमित और लिफ्ट देकर दुष्कर्म करने वाले वीरेंद्र यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में खुलासा हुआ कि मिट्टी की ठेकेदारी व दलाली करने वाले वीरेंद्र एक बेटे व चार बेटियों का पिता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 5 =