अपने आपको बताते थे विधायक और कैबिनेट मंत्री, कब्जाने गये थे जमीन, पुलिस ने दबोचा भेजा जेल

लखनऊ। वह अपने आपको भाजपा सरकार में बताते थे कैबिनेट मिनिस्टर और विधायक लेकिन मडिय़ांव पुलिस ने दोनो विधायक व कैबिनेट मंत्री समेत उनके साथियोंं के साथ गिरफ्तार किया है। फ र्जी कैबिनेट मंत्री ने अपनी सफ ारी कार पर बाकायदा भाजपा विधायक और कैबिनेट मंत्री लिख रखा था। लोगों को कैबिनेट मंत्री बता कर अर्दब में लेकर उनके खाली पड़े प्लाटों को कब्जाने का काम करता था। एक पीडि़त की शिकायत पर प्रभारी निरीक्षक मडिय़ांव ने उसको गिरफ्तार कर लिया है।
मडिय़ांव अग्रसेन नगर भरतनगर निवासी पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष मानसिंह यादव परिवार के साथ रहते हैं। मानसिंह ने बताया कि उनके घर के सामने शिवम पाठक परिवार के साथ रहते हैं। विशम पाठक अपनी सफ ारी कार पर विधायक व कैबिनेट मंत्री लिखवा रखे हैं और लोगों को अर्दब में लेकर खाली पड़े प्लाटों पर कब्जा करते हैं। मानसिंह यादव ने यह भी बताया कि घर के पास उनका भी खाली प्लाट पड़ा है। जिसमे विषम पाठक अपनी सफ ारी कार खड़ी करते थे। मंगलवार को वह अपने प्लाट के चारों तरफ बाउंड्रीवाल का निर्माण करा रहे थे। दोपहर करीब 12 बजे दर्जन भर असलहों से लैस होकर विषम के साथी प्लाट पर पहुंचे और लेवर मिस्त्री को मारपीट कर भगा दिये। विषम की इस हरकत पर घर की महिलाओं ने विरोध किया। आरोप है विषम ने महिलाओं से भी गाली-गलौज की। मान सिंह ने बताया कि सूचना मिलने पर वह घर पहुंचे और विरोध किया तो विषम व उनके साथियों ने मारपीट की। मानसिंह का आरोप है विषम उनके प्लाट पर कब्जा करना चाहते हैं। विषम पाठक कालोनियों में खाली पड़े प्लाटों को कब्जाने का काम करते हैं।
अवैध पानी के टैंकरों का करता है काम
मानसिंह के मुताबिक विषम अग्रसेन नगर स्थित शमसान घाट की जमीन पर कब्जा कर समरसेबुल लगाकर अवैध तरीके से टैंकरों में पानी भर बेचने का काम करता है। विषम शहर के ज्यादातर इलाकों में अवैध रूप से पानी बेचता है। जिस पार्टी की सरकार होती है वह उसी पार्टी का झंडा गाड़ी पर लगातार खुद को पदाधिकारी बता कर लोगों को अर्दब में लेता है। अब तो वह खुद को भाजपा का विधायक और कैबिनेट मंत्री बता कर लोगों पर रौब गांठता है।
बाक्स
अवैध कब्जे का किया था विरोध
वही विषम पाठक का कहना है कि मानसिंह अवैध निर्माण करा रहे थे। जिसका विरोध करने पर पुलिस उनको और साथियों को थाने उठा लाई। जब विशम से पूंछा गया कि किस विधानसभा से विधायक है और कैबिनेट मंत्री लिखी किसकी सफारी है, तो जवाब देने से मना कर दिया।
विषम के साथी पुलिस से उलझे
थाने में विषम पाठक के बंद होने की सूचना पाकर कुछ लोग उसके साथ पहुंचे और किसी मंत्री का नाम लेकर इंस्पेक्टर से भिडऩे का प्रयास किये। लेकिन इंस्पेक्टर ने उनकी बातों को नजरअंदाज किया और बोले कानूनन कोई व्यकि अपनी गाड़ी पर फ र्जी तरीके से विधायक और मंत्री नही लिख सकता।
प्रभारी निरीक्षक मडिय़ांव अमरनाथ वर्मा ने बताया कि मानसिंह नामक शख्स की शिकायत पर उनकी टीम निर्माणाधीन प्लाट पर पहुंची तो देखा गया कि सफ ारी कार पर विधायक और कैबिनेट मंत्री लिखा था। जो मानसिंह के प्लाट के निर्माण में नाजायज तरीके से बाधा डाल रहे थे। सफ ारी कार सीज की गई है और विशम पाठक, कन्हैया मिश्रा, विकास शर्मा, संदीप अग्निहोत्री और राजाराम के खिलाफ मुकदमा लिख कर जेल भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 3 =