यूपी बोर्ड परीक्षा में ऐसे खोले जायेंगे प्रश्नपत्र, लीक होने पर कार्रवाई में होगी आसानी

लखनऊ। यूपी बोर्ड परीक्षा में इस बार प्रश्नपत्र लीक न हो इसके लिए पिछली बार की अपेक्षा इस बार नया नियम बना दिया गया है। ऐसे में हर विषय की परीक्षा से पहले यह सुनिश्चित करना होगा कि केन्द्र पर बंडल उसी विषय का होना चाहिए जिसकी परीक्षा होनी है। प्रश्नपत्र का यह बंडल केन्द्र व्यवस्थापक समेत अन्य सभी जिम्मेदार लोगों की मौजूदगी के साथ सीसी टीवी कैमरे की निगरानी में खोला जायेगा। ऐसे में अगर प्रश्नपत्र लीक हुआ तो जिम्मेदार लोग किसी भी बात से मुकर नहीं पायेंगे और इनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराने में आसानी होगी। इसीलिए सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को अपने यहां के सीसी टीवी कैमरे दुरुस्त करने होंगे। जिस केन्द्र पर सीसी टीवी नहीं पाया जायेगा तो उस केन्द्र को हटा दिया जायेगा।
जानबूझकर खोल देते थ्ो दूसरे विषयों के बंडल, बात में कहते थ्ो हो गया धोखा
यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान अक्सर जिस दिन जिस विषय की परीक्षा होती थी उस दिन किसी-किसी परीक्षा केन्द्र पर दूसरे विषय के प्रश्नपत्र खोल दिए जाते थ्ो। जिसमें कभी-कभी प्रश्नपत्र की फोटो या फिर प्रश्नपत्र ही चुरा कर लीक कर दिया जाता था। उसके बाद नकल माफिया इसको खरीदकर मोटी कमायी करते थ्ो। हालांकि लेकिन कोई पर्याप्त सुबूत न मिलने पर अधिकारी कार्रवाई भी नहीं कर पाते थ्ो। जिसके बाद परीक्षा समाप्त होने के बाद पूरा मामला ठांय-ठांय फिस्स हो जाता था। लेकिन इस बार ऐसा संभव नही हो पायेगा।

नकल विहिन परीक्षा के लिए ये उठाये गये कदम
1-सीसी टीवी की निगरानी में खोले जायेंगे प्रश्नपत्रों के बंडल
2-प्रश्नपत्र खोलने से पहले दोबारा जांचनी होगी परीक्षा कार्यक्रम की स्कीम
3-पहली बार बने परीक्षा केन्द्रों पर अलग से तैनात होंगे पर्यवेक्षक
4-अतिरिक्त केन्द्र व्यवस्थापकों की होगी तैनाती।
5-सचलदस्तों की संख्या भी बढ़ायी जायेगी।
6-विषयवार शिक्षक ड्यूटी करते मिले तो दर्ज होगा मुकदमा।
7-इस बार जिला प्रशासन अपने पर्यवेक्षकों की भी करेगा तैनाती।
8-पंजीकरण को लेकर जो विद्यालय संदेह के घ्ोरे में हैं उनपर रहेगी निगरानी।

केन्द्र् व्यवस्थापकों को इस नियम का करना होगा पालन
1-जिन केन्द्रों की खिड़कियां बाहर से खुलती हैं उनको परीक्षा होने तक बंद करने के निर्देश।
2-परीक्षा से पहले केन्द्र व्यवस्थापकों को पूरी करानी होगी बाउंड्रीवाल।
3-पर्याप्त फर्नीचर परीक्षार्थियों के लिए कराना होगा उपलब्ध।
4-सीसी टीवी कैमरे रखना होगा दुरुस्त
5-पीने का पानी और शौचालय भी करना होगा दुरुस्त।
6-बिजली व्यवस्था भी मजबूत होनी चाहिए।
7-केन्द्र व्यवस्थापकों को निशुल्क पार्किंग की भी व्यवस्था करनी होगी।
8-परीक्षा केन्द्र के बाहर ढाई सौ मीटर तक कोई भी वाहन नही खड़ा होना चाहिए।

शिक्षकों के लिए भी ये है आदेश
इस बार जो शिक्षक ड्यूटी नहीं करने जायेंगे उन पर भी कार्रवाई होगी। इसके साथ ही 31 जनवरी के बाद सभी शिक्षकों का अवकाश रद्द कर दिया गया है। ऐसी स्थिति में उन्हें सीसीएल का भी लाभ नहीं दिया जायेगा। सिर्फ मैटरनिटी अवकाश ही मिल सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 + sixteen =