नप सकते हैं एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार ,वारदातों को लेकर सीएम सख्त, ब्योरा तलब, अधिकारियों को फटकार

file foto

लखनऊ। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले पांच दिनों से लगातार जारी डकैतों के तांडव और हत्या व लूट जैसे जघन्य अपराधों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे पुलिस महकमें को फटकार लगायी है। मुख्यमंत्री ने मंगलवार कोे प्रमुख सचिव गृह अरविद कुमार के साथ एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार, लखनऊ जोन के एडीजी अभय प्रसाद, आईजी रेंज जय नारायण सिह के साथ एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार को तलब कर वारदात का ब्योरा लिया। ऐसे में अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि लखनऊ एसएसपी दीपक कुमार को हटाया जा सकता है। सीएम ने सभी वारदातों का जल्द से जल्द खुलाशा करने को कहा है साथ ही अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाने का निर्देश भी दिया है। सीएम ने कहा कि यूपी में काननू व्यवस्था को लेकर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कुछ जिलों में हुए अपराध पर चिता भी जतायी है।
सीएम ने कहा कि लापरवाह पुलिस खराब हो सरकार की छवि
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि लापरवाह पुलिस अधिकारी भी बख्श्ो नहीं जायेंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारियों की वजह से सरकार की छवि खराब हो रही है जिसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। सीएम ने कहा कि लापरवाह अधिकारी अगर अपराध पर अंकुश नहीं लगा सकते हैं तो वह अपना पद छोड़ सकते हैं।
अधिकारियों ने सीएम को दिलाया भरोसा
काकोरी और मलिहाबाद में हुई घटनाओं में बदमाशों की शिनाख्त के बारे में सीएम को जानकारी देते हुए अधिकारियों ने भरोसा दिलाया है कि कानून व्यवस्था पटरी पर लौटेगी साथ में अपराधी भी सलाखों के पीछे होंगे। अधिकारियों ने सीएम को बताया कि अपराधियो को पकड़ने के लिए पुलिस टीमें बनाई गई हैं। अधिकारियों ने कहा जल्द ही सभी घटनाओं का खुलासा होगा।
डीजीपी ओपी सिंह ने अपराधा को लेकर की बैठक
उधर, राजधानी में हुई ताबड़तोड़ घटनाओं के देखते हुए चार्ज लेते ही अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान अधिकारियों को पहले दिन ज्यादा कुछ नहीं कहा लेकिन अपराधियों पर लगाम लगाने की हिदायत दी है। डीजीपी ने एक खास रणनीति भी तैयार करने के लिए कहा है जिसके तहत राजधानी समेत पूरे उत्तर प्रदेश को अपराध मुक्त बनाया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen + 7 =