SSB को मिलेगा नया ट्रांजिट कैंप, बरेली के राम गंगा में होगा निमार्ण, दस करोड़ में खरीदी गयी जमीन, विश्राम करने में होगी आसानी

प्रयोगात्मक फोटो एसएसबी

सशस्त्र सीमा बल (SSB) को जल्द ही नया ट्रांजिट कैंप मिलने जा रहा है। बरेली में बनने जा रहे इस कैंप की भूमि का सौदा दस करोड़ में हो चुका है। गुरूवार इस संबंध में बरेली विकास प्राधिकरण (बीडीए) के अधिकारियों ने एसएसबी के उच्च अधिकारियों को जमीन दिखायी थी, जिसके बाद ये जमीन एसएसबी के अधिकारियों को पंसद आ गयी है, इस जमीन का सौदा 10 करोड़ में हो चुका है।

पांच हजार वर्ग मीटर में बनेगा कैंप

बरेली विकास प्राधिकरण ने गुरुवार को रामगंगा नगर आवासीय योजना में ट्रांजिट कैंप बनाने के लिए एसएसबी को भूमि दी है। गुरुवार को बीडीए ने एसएसबी के अधिकारियों को संबंधित प्रपत्र उपलब्ध कराए। ऐसे में अब जवानों और एसएसबी अधिकारियों को काफी हद तक राहत मिल जायेंगे। इस ओर से आने जाने वाले जवानों और अधिकारियों को आराम  करने में आसानी होगी।

एसएसबी जवानों को होती थी दिक्कत

एसएसबी का कैंप पीलीभीत जिले में हैं। इसके साथ ही उत्तराखंड के बार्डर क्षेत्रों में इस अर्द्धसैनिक बल की पोस्ट रहती हैं। पीलीभीत और लखीमपुर खीरी के इंडो-नेपाल बार्डर पर भी एसएसबी तैनात है। वहां से अर्द्धसैनिक बल के अधिकारियों व जवानों को आने-जाने के लिए बीच में विश्राम करने का कोई स्थान नहीं है। इस कारण एसएसबी के अधिकारी पिछले लंबे समय से बरेली में ट्रांजिट कैंप के लिए भूमि तलाश रहे थे। प्रशासनिक अधिकारियों से भी इस बारे में बातचीत चल रही थी। इसी बीच तेजी से विकसित हो रही बीडीए की महत्तवाकांक्षी रामगंगा नगर आवासीय योजना पर अधिकारियों की नजर गई। एसएसबी अफसरों की मांग पर बीडीए ने आवासीय योजना के सेक्टर दो में प्राधिकरण के निर्माणाधीन कार्यालय के पास ही करीब पांच हजार वर्ग मीटर भूमि ट्रांजिट कैंप के लिए दिखाई।

पांच हजार वर्ग मीटर भूमि सशस्त्र सीमा बल एसएसबी को दी गयी है। इसकी कीमत दस करोड़ रूपये है। ये जमीन रामगंगा आवासीय योजना में है।
जोगिदंर सिंह बीडीए उपाध्यक्ष