तो पूर्व पार्षद बंटू यादव की हत्या का मास्टरमाइंड अभी जेल से बाहर है?

-हत्याकांड की तफ्तीश के लिए बंटू के भतीजे ने की मांग, दोबारा तफ्तीश के लिए एसएसपी ने जांच के आदेश
लखनऊ। राजधानी के हजरतगंज कोतवाली नरहीं में करीब डेढ साल पहले पूर्व पार्षद बंटू यादव हत्याकांड की तफ्तीश फिर से शुरू होगी। पार्षद बंटू यादव की हत्या के बाद पुलिस ने जो हत्याकांड का खुलासा किया और जो हत्यारे के रूप में जेल भ्ोजे गये इस पर बंटू के परिजन संतुष्ट नहीं है। ऐसे में परिजनों का कहना है कि बंटू यादव की हत्या के असली मास्टर मांइड अब भी जेल से बाहर हैं। ऐसे में पूरे परिवार के लिए खतरा बने हुए हैं। वहीं बंटू यादव के भतीजे अभिष्ोक यादव ने इस मामले में एसएसपी दीपक कुमार को पत्र सौंपते हुए मांग की है कि इस मामले की सही से दोबारा जांच की जाये। वहीं पुलिस भी मान रही है कि असली कातिल अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। ऐसे में ये भी सवाल है कि घटना का आनन फानन में खुलासा करते हुए असली मास्टर माइंड पर पुलिस ने क्यों नहीं हाथ डाला।
अंतिम संस्कार के दौरान हुई थी बंटू की हत्या
घटना के समय बंटू मुहल्ले में ही एक अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। वह शव को कंधा देने के लिए झुके ही थे तभी पहले से घात लगाए शूटरों ने उन्हें गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था। घटना के बाद पूरे नरही क्ष्ोत्र में हड़कंप मच गया था। क्ष्ोत्रिय लोगों के मुताबिक बंटू ऐसे पार्षद थ्ो किसी की भी शिकायत को अनदेखा न करते हुए हमेश जनता की सेवा के लिए खड़े रहते थ्ो। ऐसे में घटना के समय लोगों को उनकी हत्या हो गयी यकीन नहीं हो रहा था।
इस मामले में पुलिस पर बड़ों को बचाने का आरोप लगा था
घटना के बाद जिस तरह से पुलिस ने खुलासा कर दिया था। उसके बाद पुलिस पर ही प्रश्नचिन्ह नरही के निवासियो समेत तमाम लोगों ने लगा दिया था। सूत्रों की माने तो पुलिस ने आनन फानन में पुलिस ने शूटर शिव यादव को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया था। लेकिन पुलिस ने असली आरोपियों पर हाथ नहीं डालने का प्रयास न करके मामले की फाइल बंद करते हुए चार्जशीट दाखिल कर दी।
एक अपार्टमेंट बंटू के लिए बन गया काल
सूत्रों का यह भी कहना है कि नरही में एक अपार्टमेंट है जो कि नाले की जमीन पर बना हुआ है। सूत्र बताते हैं बंटू इस अपार्टमेंट को नही बनने देना चाहते थ्ो। सूत्र यह भी बताते हैं कि बंटू यादव न इसके लिए शिकायत भी ऊपर तक कर रखी थी लेकिन बात नही बनी थी।
एसएसपी ने दिए जांच के आदेश
पार्षद बंटू यादव की हत्या के मामले में एसएसपी दीपक कुमाार ने भतीजे के पत्र का संज्ञान लेते हुए दोबारा जांच के आदेश दे दिए हैं। इस मामले में एसएसपी का कहना हैकि असली कातिल जो भी होंगे उन्हें बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने बताया कि इस मामले में पहले जो भी लेकिन अब जांच की दिशा किसी भी कीमत पर प्रभावित नहीं होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − fifteen =