समाज में दूरियां बढ़ने से योग्य रिश्तों की हो रही गंभीर समस्या

लखनऊ। समाज में बच्चों की शादी के लिए योग्य जीवन साथी मिले इसके उद्देश्य से रविवार को बौद्ध बहुजन जागरुक समाज का पंचम पारिवारिक वैवाहिक परिचय सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में शामिल हुए सैकड़ो परिवार के लोगों ने एक दूसरे के बच्चों का परिचय दिया। धर्मोदय बुद्ध विहार नया पुरवा में आयोजित इस सम्मेलन के दौरान डॉ. भीमराव अंबेडकर के योगदान से जुड़े गीतों को भी प्रस्तुत किया गया। इस मौके पर उपस्थित लोगों ने अपने समाज को लेकर विचारों को प्रस्तुत किया। इस दौरान एक 157 परिवार के लोगों ने एक दूसरे से परिचय किया और अपना रजिस्ट्रेशन भी कराया।
वहीं सम्मेलन के आयोजक आरबी रत्ना और महोदवन जागरुक ने कहा कि आज हमारे समाज में एक दूसरे से लोग दूर होते जा रहे हैं। ऐसे में बच्चों की शादी के लिए योग्य जीवन साथी व अच्छे परिवार की तलाश एक गंभीर समस्या होती जा रही है। जब बेटे बेटियां शादी योग्य होते हैं तो फिर उनके माता पिता को इधर उधर भटकना पड़ता है, ऐसी स्थिति में कभी-कभी उन लोगों से भी रिश्ते हो जाते हैं जिनके बारे में हम पहले से नहीं जानते हैं और फिर बाद में बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि यदि हम सभी मित्र इस समस्या के लिए मिलकर प्रयास करे तो इस समस्या का हल निकल सकता है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि बहुजन जागरुक समाज संघ के प्रयास से इस समस्या का समाधान होना चाहिए। इस बारे में उन्होंने ये भी बताया कि समाज को जोड़ने के प्रयास से पिछले लगातार चार वर्षों से परिचय सम्मेलनों का आयोजन होता रहा है। इस मौके पर बुद्ध बिहार के लेखा परीक्षक आडिटर बुद्ध एमसी विमल और महामंत्री राम हरि सिंह व कैशियर बौद्ध निगम भी शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + 17 =