जज लोया के मामले में SC ने की सुनवाई, मामले को बताया गंभीर

न्यूज डेस्क। सीबीआई के स्पेशल जज बीएच लोया के मामले में सुप्र्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई करते हुए एक बार फिर मामले को गंभीर बताया है। कोर्ट ने कहा कि सभी याचिकाओं पर प्रमुखता सुनवाई होगी, सभी दस्तावेजों को भी बारीकी से देखा जायेगा। कोर्ट ने कहा कि अखबारों में जो छपा है अदालत उस पर नहीं लेकिन दस्तावेजों को प्रमुखता से देखा जायेगा। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के लिए इस केस को लेकर काफी दिनों से मांग की जा रही थी। साथ ही इस मामले में अलग-अलग स्वतंत्र जांच के लिए याचिकाएं भी दाखिल की गयी थी। चीफ जस्टिस दीपक मिश्र, जस्टिस एएम खानविल्कर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने एक घंटे से ज्यादा सोमवार को सुनवाई की। सुप्रीम कोर्ट में दो जनहित याचिकाएं लंबित हैं जिनमें जज बीएच लोया की मौत की स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने की मांग की गई है।
बाम्बे हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट केस ट्रांसफर
बाम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका को भी अब सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया गया है। ऐसे में कहा जा सकता है कि सभी याचिकाओं सुनवाई सुप्रीम कोर्ट ही करेगा। ऐसे में बाम्बे हाईकोर्ट इस मामले पर विचार नहीं करेगा। वहीं इस मामले में अब दो फरवरी को सुनवाई होनी है। सोमवार को महाराष्ट्र सरकार के वकील हरीश साल्वे व मुकुल रोहतगी ने मामले से जुड़े दस्तावेज और रिकॉर्ड पेश किए और बताया कि ये याचिकाकर्ताओं को भी दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 4 =