सीएम की नाराजगी के बाद पुलिस सख्त, डकैतों और बदमाशों के लिए आफत

File Foto

इंडिया न्यूज टाइम्स डॉट इन ब्यूरो
लखनऊ। राजधानी समेत यूपी के कई जिलों में डकैतों और बदमाशों ने इन दिनों पुलिसिया दावों को पोल खोल कर रख दी। उदाहरण के तौर पर लखनऊ के काकोरी क्ष्ोत्र में ताबड़तोड हुई पांच डकैती की घटना के बाद सीएम योगी ने पुलिस महकमें के आला अफसरों की जमकर क्लास ली और सीएम ने ये तक चेतावनी दे डाली कि कानून व्यवस्था से कोई समझौता नहीं चलेगा जो अफसर व्यवस्था को नहीं संभाल पा रहे हैं वह अपनी कुर्सी छोड़ सकते हैं। सीएम ने जैसा कहा वैसा हुआ भी और 26 आईपीएस और फिर एसके बाद 46 डीएसपी स्तर के अधिकारियों के तबादले कर दिए।
अब पुलिस ऐसा एलर्ट हुई है कि डकैतों और बदमाशों के लिए पुलिस मौत बनकर घूम रही है। पूरे प्रदेश भर में पिछले चार दिनों के आकड़ों पर नजर डाले तो पुलिस और बदमाशों के बीच दो दर्जन से अधिक मुठभ्ोड़ हो चुकी है। कई बदमाशों और डकैतों को गिरफ्तार का जेल भेजा चुका है। लखनऊ के देहात क्ष्ोत्र हो या फिर अन्य जिलों के बीहड़ क्ष्ोत्र में पुलिस डकैतो की घ्ोराबंदी कर गिरफ्तार करने में जुटी हुई है।

लखनऊ के कृष्णानगर में खेड़ा गांव के पास डकैतों और पुलिस में मुठभेड़ 
काकोरी और मलिहाबाद क्ष्ोत्र में एक के बाद एक हुई ताबड़तोड़ डकैती के बाद पुलिस महकमें के आला अफसर नप गये उन्हें जिले से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। वहीं कप्तान दीपक कुमार की हुड़की के बाद सभी थानेदार एलर्ट हैं यही कारण है कि कृष्णानगर थाना क्ष्ोत्र में खेड़ा गांव के पास डकैतों और बदमाशों में शनिवार देर रात मुठभ्ोड़ हो गयी। ये बदमाश डकैती डालने जा रहे थे उससे पहले ही पुलिस ने एक खाास सूचना पर इनके मंसूबों पर पानी फेर दिया। हालांकि पुलिस को डकैतो की गोलियों का सामना करना पड़ा। लेकिन बचाव में पुलिस ने गोलियां चलाईं, जिसमें दो डकैतों के पैर में गोली लगी और दो अन्य को दबोच लिया गया। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि पकड़े गए बदमाशों ने चिनहट, काकोरी और मलिहाबाद के अलावा फरुखाबाद और बाराबंकी के तीन-तीन मामलों का राजफाश हुआ है। शनिवार तड़के मुठभेड़ के दौरान कुल सात बदमाश थे, जिनमें से तीन मौके से भाग निकले। पुलिस फरार डकैतों का पता लगा रही है। पुलिस ने इनके पास से हथियार भी बरामद किए हैं।

पकड़े गये डकैत राजस्थान के बताये जा रहे हैं।
पुलिस के मुताबिक पकड़े गए सभी डकैत राजस्थान के रहने वाले हैं। जिसमें कोपर झुंझनु निवासी राजेश उर्फ पेटला, कोतवाली नगर अलवर निवासी मनोज उर्फ छोटू, ख्वाजा कॉलोनी, बीछवाल बीकानेर निवासी महेंद्र उर्फ महेश तथा भंडवाढ़ा, नागल चौधरी, महेंद्र गढ़ निवासी रमेश उर्फ राजू शामिल हैं।

ताबड़तोड़ हुई मुठभेड़ में तीन ढेर, 34 जेल रवाना
प्रदेश के अन्य जिलों में एक से बढ़कर एक नामी अपराधी जेल से बाहर घूम रहे थे यही नहीं वह बड़ी से बड़ी घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। इन्ही बदमाशों की वजह से पुलिस की जमकर फजीहत हुई है।  सीएम की फटकर के बाद पुलिस ऐसा सक्रिय हुई है कि अभी तक दो दर्जन से अधिक पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो चुकी हैं। जिसमें तीन बदमाशों को पुलिस ने मौके पर मार गिराया है जबकि 34 बदमाशों को सलाखों के पीछे भेज दिया है।

file foto

पुलिस बदमाशों के इस तरह छुड़ा रही पसीने
-शामली पुलिस ने 5० के इनामी बदमाश अकबर को ढेर दिया।
-मुजफ्फर नगर पुलिस 25 हजार के इनामी बदमाश इंद्रपाल को मार गिराया।
-बागपत पुलिस ने 15 हजार रुपए के इनामी दीपक को मार गिराया।

पुलिस की इन जिलों में हुई बदमाशों से मुठभेड़ 
-शामली
-कानपुर
-बुलंदशहर
-मुजफ्फर नगर
-सहारनपुर
-मेरठ
-लखनऊ
-गोरखपुर हापुड़
-कन्नौज
-गौतमबुद्धनगर
-चित्रकूट
-बागपत

बदमाशों से ये हथियार हुए बरामद
मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने हथियार भी बरामद किए हैं जो कि अवैध हैं। एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान काफी संख्या कारतूस के साथ रायफल और तंमचे बरामद किए हैं। जिसमें पिस्टल और तंमचो की संख्या 35 है। एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने कहा कि मुठभेड़ में एक कार्बाइन, एक रायफल, 7 पिस्टल, 27 तमंचे और बड़ी संख्या में कारतूस बरामद किए जा चुके हैं।

पुलिस किसी को वेबजह नहीं मार सकती है न ही मारेगी इसी तरह से बदमाशों और डकैतों के खिलाफ आपरेशन चलता रहेगा। इस बीच अगर पुलिस पर हमला होता है तो वह अपने बचाव के लिए जवाबी कार्रवाई करेगी। क्योंकि बदमाशों के साथ साथी पुलिस कर्मी भी घायल हो रहे हैं।

आनंद कुमार एडीजी कानून व्यवस्था उत्तर प्रदेश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 + twenty =