बंग्लादेशियों को भारत घुसाकर में बनवाते थे पासपोर्ट,एटीएस ने दबोचा

लखनऊ। पहले बंग्लादेशियों को भारत में घुसने का रास्ता बताते थे फिर उनका पासपोर्ट भी बनवा देते थे। एटीएस ने एक ऐसे ही गिरोह को दबोच कर बड़ी कामयाबी हासिल की है। गिरोह को पकड़ने में अभिसूचना विभाग के साथ सहारनपुलिस ने भी अपनी अहम भूमिका निभायी है। हैरानी के बात है गिरोह में दो लोग भारतीय हैं जबकि एक बंग्लादेशी नागरिक है। एटीएस आईजी असीम अरूण ने बताया कि पकड़े गये आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वह बंग्लादेशियों को पासपोर्ट फर्जी डाक्यूमेंट के आधार पर बनवा देते थे।
गाजियाबाद और सहारनपुर से इस तरह हुई गिरफ्तारी
आईजी असीम अरूण ने बताया एटीएस को सूचना मिली थी कि फर्जी आधार कार्ड तथा अन्य प्रमाण पत्रों के आधार पर भारत में अवैध रूप से रह रहे तथा विदेश जाने तथा भेजने वाले बांग्लादेशियों का एक गिरोह सक्रिय है। जाँच में पता चला कि युसूफ अली नाम के एक व्यक्ति ने भी देवबन्द से ही फर्जी पते पर पासपोर्ट बनवा लिया है और वह इस गिरोह का सक्रिय सदस्य है तथा वर्तमान में ग्राम कुर्सी, थाना मुरादनगर, जनपद गाज़ियाबाद में रह रहा है। एटीएस ने टीम ने युसूफ को ग्राम कुर्सी, थाना मुरादनगर, जनपद गाज़ियाबाद को गिरफ्तार कर उसके पास से युसूफ द्बारा फर्जी पते पर बनवाए गये दो आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविग लाईसेंस, वोटर कार्ड, मूल निवास पहचान पत्र, पासपोर्ट की छायाप्रति, विभिन्न बैंक की चैक बुक, पास बुक, एटीएम कार्ड, तीन मोबाइल, चार अन्य लोगो के पश्चिम बंगाल के पते के वोटर कार्ड तथा आधार कार्ड, पासपोर्ट, ग्राम पंचायत प्रमाण पत्र, ड्रइविग लाईसेंस की अनेक छायाप्रतियां बरामद की हैं।आईजी ने बताया कि युसूफ के खातों में सऊदी अरब से भी कई बार एक एक लाख से अधिक पैसों का लेन देन हुआ है जिसकी जानकारी की जा रही है। इसके बाद एटीएस, अभिसूचना विभाग व सहारनपुर पुलिस की संयुक्त टीम ने देवबन्द, सहारनपुर से वसीम अहमद तथा अहसान अहमद को गिरफ्तार कर उनके पास से लैपटॉप, कंप्यूटर, प्रिंटर, स्कैनर, भारी मात्रा में फोटो, बने अधबने प्रमाण पत्र तथा अनेक प्रमाण पत्रों की सैंकड़ों छायाप्रति बरामद हुई हैं।
फर्जी पासपोर्ट के नाम पर वसूलते थे पैसा
गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ में एटीएस को बताया है कि शपथ पत्र तथा स्कूल के फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर फर्जी पते पर आधार कार्ड, वोटर कार्ड तथा मूल निवास आदि अन्य प्रमाण पत्र तैयार करा लेते थे तथा सांठगांठ कर जाँच पूरी करा पासपोर्ट बनवा लेते थे। इसके बदले में बांग्लादेशियों से काफी पैसा वसूल करते थे।
रिमांड पर आरोपियों को लाया जायेगा लखनऊ
आईजी ने बताया कि अभियुक्तो को सम्बंधित कोर्ट में पेश कर ट्रांज़िट रिमांड लेकर लखनऊ लाया जाएगा। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों से राष्ट्रीय सुरक्षा तथा आतंकवाद से जुड़े पहलुओं पर यूपी एटीएस तथा अन्य एजेंसियां जानकारी जुटा रही हैं।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 + 15 =