यूपी में कोरोना संक्रमण: 24 घंटे में 22 हजार केस, लखनऊ में स्थिति खराब, मौत का आकड़ा 100 के पार

यूपी में बीते 24 घंटे में 22,439 नए संक्रमित सामने आने की इसके भयानक रूप ले लेने का अंदाजा हो रहा है। अप्रैल में इसका संक्रमण हर रोज आठ गुना होता रहा है। यहां अभी तक कोरोना से 9 हजार 480 की मौत हो चुकी हैं। उत्तर प्रदेश में अब कुल एक्टिव केस एक लाख 29 हजार 848 हैं। प्रदेश में बीते 24 घंटे में 104 लोगों की मौत हो गई है। लखनऊ में एक्टिव केस 35865 हो गए हैं। लखनऊ में अब तक कोरोना संक्रमण से 1410 लोगों की मौत हो गई है। वहीं दूसरी ओर शवदाह गृह तथा कब्रिस्तान में भी शवों की हालत देख लोग बेहद भयभीत हो रहे हैं। लखनऊ में बीते 24 घंटे में 5183 नए संक्रमित मिले हैं। कल यहां पर 5433 लोग मिले थे। लखनऊ में एक्टिव केस करीब 32 हजार हैं। लखनऊ के साथ ही अब संगमनगरी तथा वाराणसी में स्थिति खराब होती जा रही है। प्रयागराज में आज 1888 तथा वाराणसी में 1859 नए संक्रमित मिले हैं। कानपुर में भी आंकड़ा हजार पारकर 1263 केस पर है तो गोरखपुर में हजार के करीब पहुंच गया है। गोरखपुर में गुरुवार को 750 नए संक्रमित मिले हैं। प्रदेश में मेरठ में 632, बलिया में 578, गाजियाबाद में 538, गौतमबुद्धनगर में 489, झांसी में 466, मुजफ्फरनगर में 428, आगरा में 343, रायबरेली में 309 तथा बाराबंकी में 293 नए संक्रमित केस मिले हैं।

राजधानी में कोरोना कहर जारी है, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर जारी ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 5 हजार 433 नये कोरोना के केस दर्ज किए गये, जबकि 14 लोगों की मौत हो गयी। इससे पहले मंगलवार को 5382 के करीब केस दर्ज किए गये थे। वहीं दूसरी ओर लखनऊ के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात ये भी हो गयी है कि यहां आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना केस बढ़ रहे हैं। बुधवार को मलिहाबाद क्षेत्र में कुल 21 मरीज मिले। अभी तक कोरोना पाजिटिव के कुल 174 मामले मिल चुके हैं। सोमवार व मंगलवार को यह आंकड़ा सौ पार हो गया था। लगातार कोरोना के इतने मामले मिलने से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआहै। कोरोना अब शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपने पैर पसार रहा है। लगातार बढ़ते करोना का ग्राफ आसपास के लोगों में डर का माहौल व्याप्त है। मलिहाबाद के शिवदासपुर से तीन, मिर्जागंज से छह अमानीगंज से एक कसमण्डी कला से एक कनार एक हबीबपुर से एक दुगौली चार मंडौली से एक केस मिले। पहले की तुलना में इस कोरोना में काफी तेजी से अपने पांव पसार रहा है। बीते 2 दिनों में मिले मामलों की अपेक्षा बुधवार को मिले मामलों से राहत की सांस ली जा सकती है। लेकिन अभी भी कोरोना वायरस का खतरा ग्रामीण क्षेत्रों में बना है। वहीं क्षेत्र में सर्दी जुकाम बुखार आदि की समस्याएं लोगों में बनी हुई है।