पड़ोसियों ने किया शव को नहीं दिया कंधा, तो बेटियों ने पहुंचाया श्मशान

बेटियां किसी से कम नहीं हैं। पड़ोसियों ने शव को कंधा देने से मना किया तो महिलाएं खुद आगे आईं। किसी तरह से अंत्येष्टि हुई। वहीं दूसरी घटना में शव को बेटे द्वारा विक्रम से श्मशान घाट ले लाया गया। यह तस्वीरें देख वहां मौजूद लोगों के आंसू निकल पड़े। गुरूवार को रामनगरी अयोध्या के सरयू तट स्थित श्मशान घाट पर ऐसे मामले सामने आए कि देखने वालों की आंखे नम हो गईं। मृतक चंद्रभूषण श्रीवास्तव की चार लड़कियां है, लड़के एक भी नहीं है। तोगपुर सहादतगंज की रहने वाले इस परिवार में पिता की मौत हो गई, आसपास का कोई भी व्यक्ति शव उठाने को तैयार नही हुआ। जिसके बाद घर की महिलाओं ने कंधा देकर शव को श्मशान घाट पहुंचाया। इसकी सूचना जब गौ सेवक रितेश दास को मिली तब उसने महापौर ऋषिकेश उपाध्याय से सहयोग लेकर लकड़ी बैंक से निशुल्क लकड़ी की व्यवस्था करायी और किसी तरह अंत्येष्टि हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here