यूपी में 30 हजार से अधिक केस, 129 ने तोड़ा दम, लखनऊ की स्थिति खराब, जानिए क्या है सरकार की तैयारी

यूपी में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी स्ट्रेन का दायरा हर दिन बढ़ता जा रहा है, हालात ये है कि हर दिन नये मरीजों की संख्या बढ़ रही है, वहीं मौत का भी आकड़ा बढ़ता जा रहा है। रविवार को प्रमुख सचिव स्वस्थ्य अमित मोहन प्रसाद की जारी जानकारी में बताया कि गया कि बीते 24 घंटे में 129 लोगों ने दम तोड़ा है जबकि शनिवार को संख्या 120 थी। प्रदेश में एक दिन में मौत के आंकड़ों का भी रिकॉर्ड बनता जा रहा है। नाइट कर्फ्यू तथा वीकेंड लॉकडाउन के बाद भी उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे 30,596 नए मामले सामने आए हैं। यह भी एक दिन में सर्वाधिक नए केस मिलने का रिकॉर्ड है। अब उत्तर प्रदेश में एक्टिव केस 1,91,457 हो गए हैं। उत्तर प्रदेश भी एक्टिव केस के मामले में अब महाराष्ट्र के नजदीक आता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में 2,36,492 सैम्पल की जांच की गयी।

प्रमुख जिलो में ये स्थिति

-वाराणसी में 2011 केस मिले

– प्रयागराज में 1839 नए केस मिले

-झांसी में 954 केस मिले

-बरेली में 858 केस मिले

-गाजीपुर में 814 केस मिले

– मेरठ में 782 केस मिले

-गोरखपुर में 781 केस मिले

– गौतमबुद्धनगर में 700 केस मिले

– लखीमपुर खीरी में 590 केस मिले

– उन्नाव में 566 केस मिले

– जौनपुर में 511 केस मिले

– सुल्तानपुर में 486  केस मिले

– आगरा में 440 नए केस मिले

राजधानी में 22 की मौत, साढ़े पांच हजार मिले नये

लखनऊ। रविवार को लखनऊ में सर्वाधिक 5 हजार 551 नए संक्रमित मिले हैं। बीते 24 घंटे में लखनऊ में 22 लोगों की मौत हो गई है जबकि एक्टिव केस 47700 हैं। हालात ये हैं कि लोगों रविवार को यहां सप्ताहिक लॉकडाउन भी शुरू हो गया है। हालात ये हैं लोग अब डर के मारे घरो से नहीं निकल रहे हैं।

सरकार की है ये है तैयारियां

-प्रदेश में कोविड संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार द्वारा कोविड संक्रमण को नियंत्रण करने के लिए सभी व्यवस्थाए और अधिक की जा रही है

-कोविड प्रबंधन के संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरी प्रतिबद्धता के साथ टीम-11 के सदस्यों साथ वर्चुअल समीक्षा बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये

-मुख्यमंत्री के निर्देश पर जनपदों में कोविड बेड बढ़ाने का कार्य में निरन्तर बढ़ोत्तरी की जा रही है, जनपदों में आॅक्सीजनयुक्त कोविड बेड बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है।

-प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति को और बेहतर करने के लिए अलग-अलग स्थानों पर 10 नए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे

भारत सरकार से भी प्रदेश में ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए अनुरोध किया गया है। साथ में प्रदेश में आॅक्सीजन की आपूर्ति के लिए विभिन्न औद्योगिक संस्थानों को भी अस्पतालों आॅक्सीजन उपलब्ध करने के लिए कहा गया है।

किसी भी जीवन रक्षक औषधि तथा होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के मेडिकल किट की दवाओं की कोई कमी न हो इसके लिए खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग का कंट्रोल रूम निरन्तर कार्यशील है।

स्वास्थ्य राज्य मंत्री औषधियों की उपलब्धता और आपूर्ति की पूरी चेन पर नजर रख रहे हैं। साथ में साप्ताहिक बन्दी पर  स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फाॅगिंग के विशेष अभियान युद्धस्तर पर संचालित चल रहा है।

अभियान में ग्रामीण और शहरी इलाकों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फाॅगिंग की प्रभावी कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश में कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने हेतु सभी जनपदों में क्वारन्टीन सेंटर का सुचारु संचालन सुनिश्चित किया जा रहा है।

क्वारन्टीन सेंटर में लोगों के ठहरने तथा भोजन आदि की समुचित व्यवस्था की जा रही है, साथ ही सरकार  ने रायपुर (छत्तीसगढ़) में अस्पताल में आग लगने की घटना पर संज्ञान लेते हुए गृह विभाग तथा अग्निशमन विभाग को  प्रदेश के सभी जिलों के सभी सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थानों में फायर सेफ्टी के उपकरणों का परीक्षण करने को कहा है।

प्रदेश में 45 वर्ष से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन चल रहा है, इसमें पात्र व्यक्ति अपना वैक्सीनेशन आवश्यक करवाना जरूरी है।

किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया कोविड-19 के प्रोटोकल का पालन करते हुए तेजी से चल रही है

प्रदेश में बड़ी संख्या में टेस्टिंग का कार्य करते हुए, टेस्टिंग की क्षमता निरन्तर बढ़ायी जा रही है, गत एक दिन में कुल 2,36,492 सैम्पल की जांच की गयी है।

प्रदेश में अब तक कुल 3,82,66,474 सैम्पल की जांच की गयी, इसमें लगभग 93,947 सैम्पलों की जांच आरटीपीसीआर के माध्यम से की गयी है।

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 30,596 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 1,91,457 कोरोना के एक्टिव मामले में से 97,558 लोग होम आइसोलेशन में, निजी चिकित्सालयों में 3,520 लोग तथा शेष मरीज सरकारी चिकित्सालयों में इलाज करा रहे हैं।

प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 2,11,246 क्षेत्रों में 5,44,383 टीम दिवस के माध्यम से 3,26,14,346 घरों के 15,78,27,716 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।  लोगों से अपील की 45 वर्ष से अधिक लोगों का कोविड वैक्सीनेशन कारने में सहयोग प्रदान करें।

अब तक 91,03,334 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गयी तथा पहली डोज लेने वालों में से 16,10,320 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गयी हैं। इस प्रकार कुल 1,07,13,654 वैक्सीन की डोज लगायी जा चुकी है,

मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर पूरे प्रदेश के सभी जनपदों में कोविड बेडों की संख्या में बढ़ोत्तरी की जा रही है

प्रत्येक जनपद को 200 कोविड बेड और बढ़ाने के लिए कहा गया है, ऐसे लोग जिनकी कोविड-19 की रिपोर्ट आना बाकी है लेकिन अन्य प्रकार की जांच में कोविड लक्षण मिलने पर उन व्यक्तियों का कोविड उपचार शुरू कर दिया जायेगा

कोविड-19 के मरीज स्वस्थ्य होने पर यदि चिकित्सक आश्वस्त है तो उन्हें अस्पतालों से घर में रहने की अनुमति दी जायेगी। प्रदेश में अस्पतालों में कोविड-19 के उपचार के लिए प्राप्त मात्रा में उपकरण तथा मेडिसिन उपलब्ध

 है। प्रदेश के बाहर से आने वाले लोग लक्षणयुक्त होने पर घर में 14 दिन तथा लक्षणविहीन वाले लोगों को 7 दिन घर में ही व्यतीत करना है।