मंत्री ने माना प्रदेश में चमक रहा अवैध शराब का धंधा, तत्काल रोक लगाने के निर्देश

लखनऊ। प्रदेश में अवैध शराब का कारोबार जोरशोर से फल फूल रहा है। इस पर तत्काल अंकुश लगाये जाने के लिए हर संभव कदम उठाये जाने चाहिए। इसमें जो भी लोग शामिल हैं उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाना चाहिए। इसके अलावा चालू वित्तीय वर्ष के लिए निर्धारित राजस्व लक्ष्य 2०,595 करोड़ रुपये को हर हाल में भी पूरा किया जाये। ये बात प्रदेश के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कही। श्री सिंह आवास विकास परिषद के सभागार में आबकारी के अंतर्गत विभिन्न राजस्व प्राप्तियों की समीक्षा कर रहे थ्ो। इस दौरान उन्होंने पुराने बकाये की वसूली के लिए भी निर्देश जारी किए।
अन्तर्राज्यीय तस्करी पर रोकथाम जरूरी
उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रवर्तन कार्य को और कारगर बनाया जाये तथा अवैध मदिरा के उत्पादन पर पूरी तरह से अंकुश लगाते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए। उन्होंने यह भी कहा कि अन्तर्राज्यीय तस्करी की रोकथाम पर विशेष जोर दिया जाये। श्री सिह ने कहा कि आबकारी विभाग के अन्तर्गत निर्धारित की गयी राजस्व प्राप्तियों की निर्धारित समय में प्राप्ति सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि आबकारी प्रदेश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। इसीलिए इसमें किसी भी प्रकार की ढ़िलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

प्रमुख सचिव आबकारी कल्पना अवस्थी ने मंत्री को दी पूरी रिपोर्ट

नवम्बर, 2०17 में 12०2.57 करोड़ रुपये की प्राप्तियां हुई।
-जबकि गतवर्ष इसी अवधि की 1०64.61 करोड़ रुपये की प्राप्ति हुई।
– नवम्बर 2०17 तक 936.25 करोड़ रुपये मतलब 1०.2० प्रतिशत राजस्व की वृद्धि हुई।
– नवम्बर, 2०17 तक कुल 1,०1,745 अभियुक्त पकड़े गये।
-जबकि गतवर्ष इसी अवधि में 1,15,6०9 अभियुक्त पकड़े गये।
-इसी अवधि में 26.68 लाख लीटर अवैध मदिरा पकड़ी गयी।
-इसके साथ ही 1215 वाहन पकड़े गये तथा 6०86 व्यक्तियों को जेल भेजा गया।
– इस वर्ष 2०16-17 में नवम्बर 2०17 में 6०.54 लाख कुण्टल शीरे का उत्पादन हुआ।
-जो गत वर्ष की तुलना में इस अवधि में 67.6 प्रतिशत अधिक उत्पादन हुआ है।
-इसी अवधि में 4.94 लाख कुण्टल शीरे का निर्यात दूसरे राज्य में भी किया गया है।

प्रमुख सचिव ने बताया इन जिलों में हुई कार्रवाई
प्रमुख सचिव ने बताया कि नवम्बर 2०17 में मेरठ, बागपत, बुलन्दशहर, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, मुरादाबाद, सम्भल, अमरोहा, रामपुर, बिजनौर, सहारनपुर, शामली, बरेली, बदायूँ, शाहजहांपुर, मीरजापुर, संतरविदास नगर बांदा, गोण्डा, बहराइच, श्रावस्ती, झांसी, जालौन, ललितपुर, आगरा, फिरोजाबाद एवं मथुरा में विशेष महत्वपूर्ण अभियोग पकड़े गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − 3 =