आगरा यूनिवर्सिटी के एग्जाम के लिए डिप्टी सीएम सख्त, डीएम, कप्‍तान और कुलपति के साथ की बैठक

लखनऊ। यूपी बोर्ड परीक्षा तरह सभी परीक्षाओं में पारदर्शिता लाने के लिए प्रदेश सरकार हर कदम उठा रही है। ये बात डिप्टी सीएम डा. दिनेश शर्मा ने कही। आगरा में वह बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय की वार्षिक परीक्षा में जरूरत पड़ने पर माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों को भी लगाया जायेगा। उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्रों पर सीसी टीवी कैमरे लगाये जाये परीक्षा में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि कुलपति और संबंधित जिलों के प्रशासनिक अधिकारी इसके लिए जरूरी सहयोग देंगे।  नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए विश्वविद्यालय शासन की मंशा के अनुरूप कार्रवाई करें। नकल और हंगामें वाले स्थानों का चिह्नांकन कर पुलिस, एसटीएफ की भी मदद लेकर शुचितापूर्ण ढंग से परीक्षाओं को सम्पन्न कराया जाये। डा. शर्मा ने निर्देश दिये कि परिक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जायें तथा डीएम और एसएसपी इसकी निगरानी करें। जहां सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं वहां तत्काल कैमरे लगवाए जाएं। सभी जिलों के क’ान और डीएम कुलपति के साथ संवेदनशील केन्द्रों की सूची तैयार कराये ताकि नकल माफिया पर शिकंजा कसा जा सके।
बीबीएयू के लिए एसएसपी आगरा को जिम्मेदारी
डा. भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी में वार्षिक परीक्षओं को नकलविहीन कराये जाने के लिए डिप्टी सीएम ने आगरा एसएसपी अमित पाठक को भी जिम्मेदारी सौंपी है। उन्होंने कहा कि पुलिस हर संभव मदद देगी।
समय से होगी परीक्षा जून में घोषित होगा परिणाम
आगरा विश्वविद्यालय में वार्षिक परीक्षाओं के बारे में जानकारी देते हुए कुलपति प्रो. अरविंद दीक्षित ने बताया कि परीक्षा समय से और सही ढंग से करायी जायेगी ताकि जून में परिणाम घोषित किया जा सके।
पुलिस महकमें के सभी बड़े अधिकारियों को निर्देश
उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने एयरपोर्ट पर कमिश्नर के. राम मोहन राव, एडीजी जोन अजय आनंद और आईजी राजा श्रीवास्तव के साथ विश्वविद्यालय परिक्षेत्र के जिलों में नकल विहीन परीक्षाओं के संचालन पर बैठक की। बैठक में उपमुख्यमंत्री ने नकल के लिए संवेदनशील मथुरा, एटा, मैनपुरी और फिरोजाबाद पर विशेष निगरानी के निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × one =