फर्जी आधारकार्ड बनाने वाले गिरोह का मॉस्टर मांइड गिरफ्तार

-एसटीएफ के तमाम सवालों में फंस गया मॉस्टरमाइंड
लखनऊ। फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह के मास्टर मांइड को स्पेशल टॉस्क फोर्स ने गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया मास्टर मांइड यूआईडीएआई के बायोमैट्रिक मानकों को बॉयपास और क्लोन फिंगर प्रिंट बनाकर फर्जी आधार कार्ड बनाता था। इस बारे में जानकारी देते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिष्ोक सिंह और अपर पुलिस अधीक्षक एसटीएफ त्रिवेणी सिंह ने बताया कि आरोपी को बारे में बीते 25 अगस्त को फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह के 1० सदस्यों को गिरफ्तार कर भारी संख्या में उपकरण/अभिलेख बरामद हुए थ्ो। इन अभियुक्तों से पूछताछ पर इस अवैध धन्धे से जुड़े अन्य लोग भी प्रकाश में आये थे तथा गिरोह के मास्टर माइण्ड के रूपमें दुर्गेश कुमार मिश्रा का नाम भी प्रकाश में आया था। यह भी जानकारी मिली थी कि दुर्गेश कुमार मिश्रा पहल इन्फो सिस्टम प्रा.लि. की सिस्टर कन्सर्न आभा कन्सल्टेन्सी, जो आधार कार्ड बनाने के लिए अधिकृत की गयी थी, का असिस्टेंट प्रोजेक्ट मैनेजर है, जिसके द्बारा पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्त सौरभ को टेम्पर्ड क्लांइन्ट साफ्टवेयर व कृत्रिम फिंगर प्रिंट आदि बनाने की विधि ई-मेल के माध्यम से उपलब्ध करायी गयी थी। जिसके बाद मंगलवार को अभियुक्त दुर्गेश कुमार मिश्रा आगे की पूछताछ के लिए थाना-साइबर क्राइम, लखनऊ पर बुलाया गया और पूछताछ पर अपराध की पुष्टि होने पर उसे हिरासत में लेकर मुकदमा दर्ज किया गया। गिरफ्तार अभियुक्त का अपराध के नेटवर्क के बारे में महत्वूपर्ण नई जानकारियॉ भी एसटीएफ को मिली है। अभियुक्त से बरामद लैपटाप से इस अभियुक्त के सम्बन्ध में अपराध करने के ठोस साक्ष्य प्राप्त हुए हैं। बरामद लैपटाप की की जॉच कम्प्यूटर फोरेन्सिक तकनीकों के माध्यम भी करायी जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − five =