लखनऊ विश्वविद्यालय: बीटे, बीसीए में खाली सीटों पर प्रवेश का अंतिम मौका, जानिए क्या है प्रक्रिया


इंजीनियरिंग संकाय में संचालित बीटेक, एमसीए, बीफार्मा प्रथम वर्ष और बीटेक तृतीय सेमेस्टर (लेट्रल एंटी) कोर्स में खाली सीटों पर प्रवेश लेने का अंतिम मौका दिया गया है। इन सीटों पर सीधे प्रवेश प्रक्रिया सोमवार से शुरू होगी। इसके बाद प्रवेश के लिए स्पॉट काउंसलिंग दो दिसंबर को होगी। विश्वविद्यालय में बीटेक में 420, एमसीए 30, बीफार्मा 100 और बीटेक द्वितीय वर्ष लेट्रल एंटी कोर्स में 36 सीटें हैं। इसके अलावा 10 फीसद सीटें ईडब्ल्यूएस कोटे की हैं। इन सीटों पर दाखिले डा. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) की काउंसलिंग चल रही है। इंजीनियरिंग फैकल्टी के कोआर्डिनेटर एवं प्रोफेसर इंचार्ज प्रो. आरएस गुप्ता ने बताया कि खाली सीटों के लिए बीटेक में 80, एमसीए 15 और लेट्रल इंट्री कोर्स में 10 आवेदन आए हैं। अंतिम मौका 22 नवंबर है।

न्यू कैंपस इंजीनियरिंग फैकेल्टी में होगी काउंसलिंग
बीटेक बीसीए की खाली सीटों पर प्रवेश के लिए काउंसलिंग जानकीपुरम स्थित न्यू कैंपस में करायी जायेगी। हालांकि इससे पहले एकेटीयू की काउंसलिंग 30 नवंबर तक चलेगी। उसके बाद लखनऊ विश्वविद्यालय की इन कोर्सों में जो सीटें बचेंगी उनमें रैंक जारी कर दो दिसंबर को स्पॉट काउंसलिंग से सीधे प्रवेश दिया जाएगा। छात्रों को प्रात: 11 बजे से पहुंचने के निर्देश हैं।

ज से शुरू होंगी बीटेक व एमसीए की कक्षाएं
इंजीनियरिंग संकाय में बीटेक व एमसीए प्रथम सेमेस्टर की कक्षाएं 22 नवंबर से शुरू हो जाएंगी। अभी तक बीटेक में 265, एमसीए में 18 विद्यार्थियों ने प्रवेश ले लिया है। उनकी पढ़ाई प्रभावित न हो, इसलिए कक्षाएं शुरू करा दी जाएंगी। दोपहर दो बजे नए छात्रों के लिए ओरियंटेशन प्रोग्राम भी होगा।

दीक्षांत की तैयारियों की हुई समीक्षा
26 नवंबर को होने वाले दीक्षांत समारोह के लिए ​कैपंस में रविवार को भी हलचल रही, इस दौरान अधिकारियों ने सभी तैयारियों की समीक्षा की। वहीं प्रॉक्टर दिनेश कुमार की टीम ने भी अपनी तैयारियों को लेकर बैठक की। साथ ही छात्रों को दीक्षांत से पहले ​वितरण किए जाने वाले वस्त्रों को लेकर भी चर्चा की गयी। प्रॉक्टर ने बताया कि दीक्षांत के दौरान अपनाये जाने वो सभी प्रोटोकॉल की समीक्षा की गयी है, इसके साथ ही किसकी कहां ड्यूटी रहेगी यह भी तय कर लिया गया है। समारोह के दौरान पार्किंग की समस्या न होने पाये इसके लिए विशेष ध्यान रखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × four =