लखनऊ-बीएड, टीईटी पास अभ्यर्थियों ने घेरा बीजेपी दफ्तर

लखनऊ। 2011 में बीएड और टीईटी पास अभ्यर्थियों ने सीएम को ज्ञापन सौंपने के बाद रविवार को हजरतगंज स्थित बीजेपी दफ्तर का घेराव कर दिया। अभ्यर्थियों का कहना है कि सात साल पहले बीएड और टीईटी कर चुके हम लोग सडक़ पर दर-दर भटक रहे हैं। सरकारें आश्वासन तो नियुुक्ति के लिए देती है, लेकिन सत्ता परिवर्तन के बाद कोई ध्यान नहीं देता है। रविवार को करीब 100 महिला परुष अभ्यर्थियों ने बीजेपी दफ्तर का घेराव कर दिया। लेकिन इन अभ्यर्थियों को बीजेपी दफ्तर से कोई आश्वासन नहीं मिला बल्कि पुलिस को मौके पर मोर्चा संभालना पड़ा। हजरतगंज एसएचओ आनंद शाही ने बताया कि अभ्यर्थी बीजेपी दफ्तर के सामने अपनी मांग को लेकर हंगामा कर रहे थे, इस दौरान उन्हों वहां से हटाया गया लेकिन किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया। जबकि इस बीच महिला अभ्यर्थियों से भी पुलिस की धक्कमुक्की हुई। अभ्यर्थियों ने शनिवार को भी धरने पर सीएम योगी को ज्ञापन सौंपा तो ज्ञापन में ही कोर्ट के आदेश का हवाल भी दे दिया। अभ्यर्थी विजय यादव, शंकर लाल शर्मा, मान बहादुर सिंह, अरुण कुमार, नीलेश शुक्ला, शिवम पाण्डेय, मनोज मौर्या ने मांग करते हुए कहा कि चुनाव के पहले से लेकर अब तक हम लगातार संघर्ष कर रहे हैं लेकिन हमारी ओर ध्यान कोई नही देता है। पत्र के माध्यम से सीएम को अभ्यर्थियों ने बताया कि प्रदेश के डिप्टी सीएम डा. दिनेश शर्मा, व केशव प्रसाद मौर्या और प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय को कई बार ज्ञापन सौंपा लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। कोर्ट का हवाला देते हुए अभ्यर्थियों ने सीएम को अवगत कराया कि उच्च न्यायालय के अंतिम आदेश 25-7-2017 के पैरा नंबर 17 में स्पष्टï उल्लेख कि सभी अंतरिम आदेशों तक विज्ञापन को आगे बढ़ाया जाये। जिस विज्ञापन शुल्क लगभग 300 करोड़ रुपए सरकारी कोष में जमा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × five =