लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में अस्पताल होगा विलय, सरकार ने दी मंजूरी

लखनऊ। पिछली सरकार में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट माने जाने वाले डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में लोहिया अस्पताल का विलय हो जायेगा। मंगलवार को शासन ने इसकी मंजूरी दे दी है। इस संबंध में मंगलवार को सचिव उत्तर प्रदेश शासन वी. हेकाली झिमोमी ने आदेश जारी किया। वी.हेकाली झिमोमी ने अपने आदेश में कहा है कि डा. राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय को चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधीन स्थानान्तरित करते हुए उसका विलय डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में कर दिया जाये। उन्होंने कहा है कि यह कार्यवाही तत्काल संपादित की जाये। जब तक चिकित्सा शिक्षा विभाग के अपने चिकित्सक व अन्य कर्मी इस चिकित्सालय में तैनात नहीं हो जाते तब तक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से प्रतिनियुक्ति अथवा अन्य किसी अनुमन्य प्रकार से यहां चिकित्सक व अन्य कर्मी तैनात किये जाने की व्यवस्था की जाये। सचिव ने कहा है कि डा. राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय को अधिग्रहीत किये जाने की तिथि निर्धारित की जाय। चिकित्सालय के संचालन हेतु चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से प्रतिनियुक्ति के आधार पर कितने प्रकार एवं कितनी संख्या में मानव संसाधन की आवश्यकता होगी। प्रतिनियुक्ति की अवधि का उल्लेख भी करने को कहा है। आदेश में यह भी उल्लेख है कि अधिग्रहण की कार्यवाही पूर्ण होने तक डा. राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय का संचालन चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से किया जायेगा ताकि सेवाएं बाधित न हों। वहीं अस्पताल प्रशासन का कभी कहना है कि गरीबों का इलाज प्रभावित नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × four =