केजीएमयू- देश को मिले सैकड़ों नये डॉक्टर, 31 टॉपरों को मिला गोल्ड मेडल

लखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय केजीएमयू का 13 वां दीक्षांत समारोह बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया। इस दौरान मेडिकल के 31 मेधावियों को कुल 34 गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया गया। गोल्ड मेडल पाने वालों में 16 लड़के और 15 लडंकिया हैं। केजीएमयू से मेडिकल की पढ़ाई पूरे कर चुके सैकड़े छात्र-छात्राएं अब देश में एक नये डॉक्टर के रूप में काम करेंगे। शनिवार को आयोजित दीक्षांत समारोह में 31 टॉपर्स को राज्यपाल राम नाईक ने 34 गोल्ड मेडल पहनाए। इस दौरान उन्होंने कहा कि मेडिकल की पढ़ाई एक सबसे अलग पढ़ाई है ऐसे में पढ़ाई पूरी कर मेडल से सम्मानित होने वाले मेधावियों से ज्यादा अब खुशी का विषय हम सबके लिए है कि देश के नये डॉक्टर मिल रहे हैं। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि चेयरमैन वर्ल्ड एकेडमी ऑफ ऑथेंटिक हीलिग साइंसेज प्रो. बीएम हेगड़े रहे। इस बार फाइनल ईयर के परिणाम में एमबीबीएस, बीडीएस (यूजी), एमएस-एमडी (पीजी), डीएम-एमसीएच (सुपर स्पेशलियटी कोर्स), नर्सिग के कुल 1०2 टॉपरों ने 161 गोल्ड, सिल्वर व ब्रॉन्ज मेडल हासिल किए हैं। इसमें 62 लड़कियां और 4० लड़के हैं। मेडल देने साथ राज्यपाल ने सभी मेधावियों से कहा कि सभी लोग इस बात का जरूर ध्यान रख्ो कि उनके माता पिता और शिक्षकों का उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाने में अहम योग रहा है। ऐसे में माता पिता और गुरुजनों का सम्मान हमेशा करते रहे।

अब जीवन की लड़ाई के लिए रहे तैयार
मेधावियों को सम्मानित करने के बाद राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि अब सभी को डिग्री मिल गयी है इसलिए अब आगे जिन्दगी में आगे की लड़ाई के लिए तैयार रहना होगा। उन्होंने कहा कि बेहतर सफल चिकित्सक बनने के साथ दुनिया में अपना नाम कमाने के लिए ‘चरैवति-चरैवति’ (चलते रहा-चलते रहो) का सूत्र अपनाना होगा। उन्होंने कहा कि गोल्ड मेडल पाना बहुत कठिन है। कुलाधिपति होने के नाते कई विश्वविद्यालयों में तमाम गोल्ड मेडल बांटें, मगर आज तक मुङो कभी गोल्ड मेडल नहीं मिला। उन्होंने प्रदेश में विश्वविद्यालयों में शिक्षा के स्तर के साथ उनमें होने वाले दीक्षांत समारोह के बारे में भी बताया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पहले विश्वविद्यालयों में दीक्षांत समारोह समय पर नहीं होते थे। ऐसे में शैक्षिक सत्र के काम भी समयगत नहीं होते थे। पिछले तीन वर्षो में दीक्षांत समारोह समय पर होने लगे। वर्तमान में 25 विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह मना रहे हैं। इसमें से 22 विश्वविद्यालय में दीक्षांत हो गए हैं, जबकि तीन के दिसंबर के अंत तक संपन्न हो जाएंगे।

कुलपति ने प्रस्तुत की रिपोर्ट
दीक्षांत समारोह में केजीएमयू के कुलपति प्रा. एमएलबी भट्ट ने वार्षिक रिपोर्ट भी प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि केजीएमयू में 48 भवन हैं। उसमें 8० विभाग संचालित हैं। 4००० बेड वाले संस्थान में गत वर्ष 91,572 मरीज भर्ती हुए, वहीं 14 लाख, छह हजार, सात मरीज ओपीडी में देखे गए। उन्होंने कहा कि केजीएमयू में दूसरे देशों से मरीज इलाज के लिए आते हैं। वहीं अब न्यू कैंपस की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इसके लिए 2०० एकड़ भूमि की जरूरत है।

इन्हें मिला गोल्ड मेडल

1-अपराजिता चतुर्वेदी को एमबीबीएस हीवेट, चांसलर एवं यूनिवर्सिटी ऑनर गोल्ड मेडल
2-अदिति मिश्रा बीडीएस एचडी गुप्ता गोल्ड मेडल
3-डा. पराजित सूर्यवंशी को सर्जिकल अंकोलॉजी में एमसीएच में गोल्ड मेडल
4-डा. रविन्द्र कुमार को प्लास्टिक सर्जरी में एमसीएच में गोल्ड मेडल
5-डॉ. धु्रव बत्रा डीएम न्यूरोलॉजी में गेल्ड मेडल
6-डॉ. अनिरुद्ध मोरे डीएम न्यूरोलॉजी में गोल्ड मेडल
7-डॉ. कवलजीत यूरोलॉजी में एमसीएच में गोल्ड मेडल
8-डॉ. सौम्या रंजन को डीएम रिह्यूमेटोलॉजी में गोल्ड मेडल
9-डॉ. विजय कुमार बेस्ट रेजीडेंट एमडी एनेस्थीसिया का गोल्ड मेडल
1०-डॉ. प्रियाल गुप्ता एमडी एनेस्थीसिया में गोल्ड मेडल
11-डॉ. कीर्ति यादव कम्यूनिटी मेडिसिन में दो गोल्ड मेडल
12-डॉ. देबस्मिता एमडी एनेस्थीसिया में गोल्ड मेडल
13-डॉ. एनन थॉमस एमडी बेस्ट थिसिस में गोल्ड मेडल
14-डॉ. वर्तिका एमडी ऑब्स एंड गाईनी में गोल्ड मेडल
15-डॉ. तौहीद अहमद एमडी मेडिसिन में गोल्ड मेडल
16-डॉ. ज्ञान रंजन एमडी मेडिसिन में गोल्ड मेडल
17-डॉ. विधुत राय बेस्ट वर्क इन हॉस्पिटल में गोल्ड मेडल
18-डॉ. गरिमा बेस्ट थिसिस एमडी माइक्रोबायोलॉजी मेें गोल्ड मेडल
19-डॉ. अंकिता एमएस ऑप्थ्ोलमोेलॉजी में गोल्ड मेडल
2०-डॉ. एकांश एमएस आर्थोपैडिक सर्जन में गोल्ड मेडल
21-डॉ. सुप्रिया पिडियाट्रिक्स में मेडल
22-डॉ. एमडी पीडियाट्रिक्स का गोल्ड मेडल
23-डॉ. प्रांशी एमडी पीडियाट्रिक्स में गोल्ड मेडल
24-डॉ. पुलकित रेडियोलॉजी में बेस्ट रेजीडेंट का गोल्ड मेडल
25-डॉ. रोशनी एमडी रेडियोलॉजी में गोल्ड मेडल
26-डॉ. अंकित एमडी रेडियोलॉजी में गोल्ड मेडल
27-डॉ. राहुल सिंह एमएस जनरल सर्जरी में गोल्ड मेडल
28-डॉ. पल्लवी ऑब्स एंड गाइनी में डीजीओ का गोल्ड मेडल
29-डॉ. मोहिनी एमएस ईएनटी में मेडल

3०-डॉक्टर अनुश्री को एमडी पैथॉलॉजी में गोल्ड मेडल
31-डॉ. अभिष्ोक डेंटल में बेस्ट इंटर्न का गोल्ड मेडल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × five =