इन्वेस्टर्स समिट प्रदेश के विकास की दिशा में एक बहुत महात्वपूर्ण कदम है- राष्ट्रपति

लखनऊ। यूपी इन्वेस्टर्स समिट के दूसरे दिन गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शाम चार करीब राजधानी पहुंचे। इस दौरान अमोसी एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत किया गया। स्वागत के दौरान राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा व गृह मंत्री मौजूद रहे। इसके बाद राष्ट्रपति ने सीध्ो इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित समिट में शामिल होने के लिए रवाना हुए। यहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दीप प्रज्जवलन कर
समापन सत्र की शुरुआत की। इस मौके पर राष्ट्रपति ने कहा कि यह समिट उत्तर प्रदेश की विकास की दिशा में एक महात्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि समिट का आयोजन होना एक अलग बात है लेकिन आयोजन का सफल होना एक बहुत बड़ी बात है। उन्होंने कहा कि इसके लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी पूरी टीम को इस सफल आयोजन के लिए मैं बधाई देता हूं।
आपार संभावनाओं का प्रदेश है उत्तर प्रदेश
राष्ट्रपति ने यूपी में बढ़ते विकास को लेकर कहा कि यहां आपार संभावनाएं हैं। देश के युवा अपनी प्रतिभा का परचम भी तेजी से फहरा रहे हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि नौ प्रधानमंत्री इसी प्रदेश से गए हैं। मेरा जन्म भी इसी प्रदेश में हुआ है। इस प्रदेश की क्षमताओं का प्रयोग देश की तरक्की में भी योगदान देगा।
कैशलेश भुगतान ने देश में निवेश की संभावनाओं को बढ़ाया
राष्ट्रपति ने कहा कि जीएसटी और कैशलेश भुगतान शुरू होने से देश में निवेश की और संभावनाएं बढ़ गयी हैं। उन्होंने कहा कि पिछले तीन साल में एफडीआई में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है। यह प्रदेश देश ही नहीं दुनिया में सबसे बड़े बाजार और मैनफोर्स के रूप में जाना जाता है। उन्होंने कहा कि आज विशेष प्रयासों की बदौलत ही देश और विदेश के निवेशक यूपी में निवेश के लिए आ रहे है।
राम और कृष्ण की कर्मस्थली के चलते यूपी में पर्यटन की अधिक संभावनाएं
राष्ट्रपति ने कहा कि उत्तर प्रदेश जहां उत्तम प्रदेश हैं वहीं ये राम और कृष्ण की कर्मस्थली भी रहा है। ऐसे में यहां पर पर्यटन की आपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि पूरा यूपी एक टूरिज्म के रूप में भी विकसित हो रहा है। ऐसे में यह एक बड़ी पहचान यूपी की बनती जा रही है।
-भारत और मॉरीशस का है पुराना रिश्ता
राष्ट्रपति ने कहा कि भारत का मॉरीशस का एक पुराना रिश्ता है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि मॉरिशस की आजादी की 5०वीं वर्षगांठ में मैं वहां स्वयं मौजूद रहूंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − thirteen =