नये सत्र में यूपी के 65 और केजीबीवी में इंटर तक पढ़ेंगी बेटिया, 350 स्कूलों में पहले से चल रही प्रक्रिया

लखनऊ। राजधानी समेत प्रदेश भर में संचालित 746 कस्तूरबा गांधी आवसीय बालिका विद्यालयों में इंटर तक पढ़ाई शुरू होनी है। इसके लिए 350 स्कूलों में व्यवस्था पहले ही लगभग पूरी हो चुकी है और 65 अन्य स्कूलों में नये सत्र से पहले सभी अधूरे काम पूरे कर लिए जायेंगे। इस संबंध में जानकारी देते हुए समग्र शिक्षा अभियान की अपर परियोजना निदेशक ने बताया कि इंटर तक पढ़ाई वाले 65 विद्यालयों की संख्या और बढ़ाई गयी है। केजीबीवी के कुल 415 विद्यालय ऐसे हो जायेंगे जिनमें इंटरमीडिएट तक पढ़ाई होगी। छात्राओं को नये सत्र से पढ़ाई के लिए बाहर नहीं जाना होगा। छात्राओं को पढ़ाई का मौका सत्र 2022—23 में मिल सकेगा। अधिकारियों के मुताबिक इसमें 33 केजीबीवी में छात्रावास बनाए जाएंगे, 18 केजीबीवी में एकडेमिक ब्लॉक बनेगा और 14 में दोनों ही चीजों का निर्माण किया जाएगा। प्रदेश के 746 केजीबीवी हैं, इनमें 350 को पहले ही कक्षा 12 तक करने का निर्णय हो चुका है।

हाईटेक होंगे छात्रावास
कस्तूरबा गांधी विद्यालयों के छात्रावास भी हाइटेक होंगे। परियोजना निदेशक ने बताया कि छात्राओं की सुविधा के अनुसार इन छात्रावासों में टॉयलेट, बाथरूम बनाये जायेंगे। इसके साथ ही प्रत्येक छात्रावास में पढ़ाई के माहौल को भी बनाया जायेगा। इसके साथ ही छात्रावास वहां बनेंगे, जहां कक्षा नौ से 12 तक के स्कूल तीन किलोमीटर के अंदर हो। छात्रावास में रहने वाली छात्राएं इनमें पढ़ाई करेंगी। आसपास स्कूल नहीं है तो केजीबीवी परिसर या आसपास एकेडमिक ब्लॉक-हॉस्टल दोनों बनाया जाएगा।

अवैध कब्जे से मुक्त होंगे ​विद्यालय
विभाग से इस संबंध में सभी जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारी और खंड शिक्षा अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए गये हैं कि अवैध कब्जे की चपेट में आने वाले स्कूलों को चिन्हित कर जिला प्रशासन को अवगत कराया जाये। ताकि खाली कराने में आसानी हो सके। साथ विद्यालयों में जहां हॉस्टल बनने हैं उस जमीन को भी चिन्हित करने के लिए कहा गया है।

स्वीकृति के बाद ही कटवायें पेड़
केजीबीवी में जहां निर्माण कार्य में पेड़ बाधा बन रहे हैं उनको कटवाने के लिए वन विभाग से अनुमति लेनी होगी। विभाग की ओर से जारी आदेश में स्पष्ट किया गया कि जर्जर भवनों को धवस्तीकरण कराये जाने की भी कार्ययोजना तैयार की जाये ताकि विद्यालयों को ​​फिर से निर्माण कार्य हो सके।

कोट——
केजीवीबी विद्यालयों में इंटर तक पढ़ाई कराये जाने के लिए शासन के आदेश पर कार्ययोजना तैयार हो चुकी है, विद्यालयों में जो काम अधूरे हैं उनको पूरा किया जा रहा है। सत्र 2022—23 से बेटियों का अपना विद्यलालय हाइटेक रूप में मिलेगा।
सरिता तिवारी परियोजना निदेशक समग्र शिक्षा अभियान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 + 16 =