कृषि विभाग के लापरवाह अधिकारियों पर फिर चला हंटर, दो उप निदेशक, चार खण्ड प्रभारी सस्पेंड

लखनऊ। मंत्री जी डाल-डाल तो कृषि अधिकारी पात-पात शायद यही कारण है कि कृषि मंत्री कितना भी विभाग को सुधारने का प्रयास कर लें लेकिन कृषि विभाग के लापरवाह अधिकारियों ने तय कर लिया है कि हम नहीं सुधरेंगे। कृषि अधिकारियों की लापरवाही से नाराज कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने एक फिर बड़ी कार्रवाई करते हुए विभाग के दो उपनिदेशक और चार खंड प्रभारियों को निलंबित कर दिया। इस बारे में जानकारी देते हुए कृषि मंत्री ने बताया कि कृषि विभाग मेरठ के उपनिदेशक सुरेश कुमार चौधरी और एटा एवं कासगंज कृषि उपनिदेशक विजय शंकर को सस्पेंड कर दिया गया है। इसके अलावा चार खण्ड प्रभारी, राजकीय कृषि प्रक्षेत्र इबारत हुसेन, रमेश चन्द्र, वीरेन्द्र राम तथा नितेश कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है।
बीजों के रखरखाव में मिली लापरवाही तो नाराज हुए मंत्री
मंत्री ने बताया कि बीजों के रख-रखाव में गड़बड़ी तथा क्राप कटिग पर कम उत्पादन पाये जाने की वजह से निलम्बित कर दिया गया है। श्री शाही शनिवार को विधान भवन स्थित सभागार में पत्रकारों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने ये भी साफ किया आगे भी दोषी अफसर बख्श्ो नहीं जायेंगे।

13 फरवरी को भी दो अधिकारी हों चुके हैं सस्‍पेंड                                बीजों के वितरण में लापरवाही तथा रख-रखाव ठीक से न करने के कारण जिला कृषि अधिकारी फतेहपुर अमर सिंह तथा लखीमपुर खीरी के संतोष कुमार वर्मा को निलम्बित कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त रूप चन्द्र भूमि संरक्षण अधिकारी (ऊसर सुधार योजना) एटा को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

बजट से गांवो और किसानों का होगा विकास
श्री शाही ने बताया कि हमारी सरकार ने जो बजट पेश किया है, उससे गांवों तथा किसानों का विकास होगा। प्रदेश के 214 विकास खण्डों में विद्युत कनेक्शन पर रोक हटा ली गई है, इससे सिचन क्षमता में वृद्धि होगी। एक प्रश्न के उत्तर में कृषि मंत्री ने बताया कि 35 लाख किसानों के खाते में ऋण मोचन का पैसा पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि जहां एक ओर हम किसानों के दायित्वों के प्रति लापरवाही बरतने पर दण्डात्मक कार्रवाई कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर अच्छा प्रदर्शन करने वाले कार्मिकों को सम्मानित भी कर रहे हैं। कृषि मंत्री ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में वरिष्ठ प्राविधिक सहायक से लेकर वैयक्तिक सहायक तक 1358 कार्मिकों को प्रोन्नति प्रदान की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 + 20 =