हैलो वसीम बोल रहे हो, शर्म नहीं आती मुसलमानों को मरवाने की बात कर रहे हो, भाई का मैसेज है तेरे लिए, 1 मिनट में उड़ जायेगा परिवार, वसीम रिजवी को फोन पर दाउद की धमकी, रिकार्ड हुई बातचीत

लखनऊ। मदरसो को लेकर जबसे शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने केन्द्र और प्रदेश सरकार को मदरसों पर आरोप लगाते हुए पत्र सौंपा है, तब से उनकी दिक्कत बढ़ रही है। देश में जहां उनका तमाम मुश्लिम संगठन विरोध कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर अब अडंरवर्ल्ड डॉन दाउद की ओर से उनको एक धमकी भरा फोन भी आया है। दाउद के गुर्गे ने रिजवी से दो मिनट से अधिक समय तक बात हुई है। इस दौरान कॉल रिजवी के फोन में रिकार्ड हुई है। दाउद के गुर्गे ने देश के मौलानाओं से माफी मांगने की नसीहत दी है।

इस दौरान कॉल रिजवी के फोन में रिकार्ड

दाउद का गुर्गा- वसीम रिजवी बोल रहे हो?
रिजवी- हां बोल रहा हूं, कौन बोल रहा है?

दाउद का गुर्गा- भाई का मैसेज है तेरे लिए
रिजवी-बोल कौन रहा है?

दाउद का गुर्गा- शर्म नहीं आ रही तुझको मुसलमान होकर मुसलमानों को मरवाने की बात करता है।
रिजवी- भाई मैंने कौन से मुसलमानों को मरवाने की बात कर दी भाई अच्छी शिक्षा दिए जाने की ही तो बात की है।

रिजवी- आखिर बोल कौन रहा है?
दाउद का गुर्गा-मुसलमान मरे तो आवाज क्यों नहीं उठाता?

रिजवी--अरे भाई बिल्कुल आवाज उठायी जाती है, अगर कोई मुसलमान मरता है तो, मुसलमान क्या कोई भी मरे गलत है। हर आदमी हर मुसलमान आवाज उठाता है।
दाउद का गुर्गा-भाई ने कहा था कि एक बार उसे समझा देना इसलिए समझा दे रहा हूं आगे तू समझना।

रिजवी-आखिर ये बतओगे कि बोल कौन रहा है?
दाउद का गुर्गा- दाउद भाई का नाम सुना है कि नही तू भाई को नहीं जाने है

रिजवी- अच्छा, अच्छा अच्छा
दाउद का गुर्गा-मिनट भी न लगने है तेरे परिवार को उड़ाने में…

रिजवी-अच्छा हिम्मत है तो आ जाओ
दाउद का गुर्गा-अपनी मौत का जिम्मेदार तु खुद होगा, अभी भी वक्त है मौलानाओं से माफी मांग ले

रिजवी-अरे भईया ऐसा है हो सकता है तुम्हारी मौत तुमको बुला रही हो।
दाउद का गुर्गा-चल, चल कोई बात न, मौत जिसे खुद ढूंढ रही हो कोई उसे क्या समझा सके है

दाउद का गुर्गा-अपनी मौत का इंतजार करना समझे
रिजवी-अरे देखो जब तक अल्लाह जिदा रखता है, तब तक कोई मार नहीं सकता, तुम्हारा बाप दाऊद इब्राहिम क्या अबू बकर बगदादी तक नहीं मार सकता।

दाउद का गुर्गा-चल ठीक है समझाने के लिए सोच रखी थी तुझे, न समझ में आ रही तेरे, तुझको बाद में देख लेंगे तैयार रह समझा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven − three =