यूपी समेत देश भर में चल रहे फर्जी विश्वविद्यालय, यूजीसी ने जारी की लिस्ट, भविष्य चाहते हैं तो न ले ऐसे विश्वविद्यालयों में दाखिले

लखनऊ। उत्तर प्रदेश समेत देश भर में फर्जी विश्वविद्यालय चल रहे हैं, युवा अगर अपना भविष्य चाहते हैं तो ऐसे विश्वविद्यालयों में अपना दाखिला न करायें। ये एलर्ट दिल्ली से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यूजीसी ने सभी युवाओं के लिए भेजा है। यूजीसी ने बुधवार को ऐसे ही फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची भी अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दी है। इसमें उत्तर प्रदेश में पांच ऐसे विश्वविद्यालयों के नाम दिए गये है जो पूरी तरह से फर्जी हैं। लेकिन इनका संचालन रोकने वाला कोई नहीं है। इन विश्वविद्यालयों के बारे में यूजीसी ने बताया कि इनका न तो कहीं से रजिस्ट्रेशन है न ही कहीं से मान्यता है। फिर भी ये धडल्ले से बेखौफ होकर चल रहे हैं। यूजीसी का कहना है कि इन यूनिवर्सिटियों का देश भर में कोई अपना वजूद नहीं है। यूजीसी ने युवाओं को सचेत भी किया है कि इन विश्वविद्यालयों में दाखिला न ले वरना भविष्य चौपट होना तय है।
पिछले साल भी यूजीसी ने फर्जी विश्वविद्यालयों की जारी थी सूची
हालांकि यूजीसी ने पिछले साल भी दो दर्जन से अधिक यूनिवर्सिटियों के फर्जी होने की पुष्टिï पिछले साल भी की थी। साथ ही सभी यूनिवर्सिटियों की सूची भी जारी की थी। लेकिन उस पर क्या कार्रवाई हुई इस यूजीसी के तत्कालीन चेयर मैन जवाब भी नहीं दे पाये थे। चेयरमैन बीबीएयू के दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए आये थे। उस समय पत्रकारों ने उनसे सवाल किया था लेकिन वह जवाब नहीं दे पाये थे।
यूपी में चल रही हैं नौ फर्जी यूनिवर्सिटी
यूजीसी की ओर से जारी सूची के मुताबिक सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में ही फर्जी यूनिवर्सिटी चल रही हैं। जारी सूची के मुताबिक अकेले उत्तर प्रदेश में ही 9 यूनिवर्सिटी फर्जी चल रही है। वहीं आठ दिल्ली में हैं। बिहार और कर्नाटक, केरल और महाराष्ट्र में एक-एक फर्जी विश्वविद्यालय है। वहीं पश्चिम बंगाल में दो और उड़ीसा में भी दो फजऱ्ी विश्वविद्यालय हैं।
यूजीसी के सचिव रजनीश जैन ने बताया कि चाहते हैं कि छात्र और अभिभावक जागरूक रहें जो कम्प्लेन हमारे पास आई हैं उसके आधार पे हम जांच करा के लिस्ट जारी करेंगे। लेकिन आगे भी इस तरह की कम्प्लेन मिलने पे हम जांच कराएंगे।
यूजीसी के पास नहीं है कार्रवाई का अधिकार
हालांकि यूजीसी ने भले ही इन फर्जी विश्वविद्यालयों कीसूची जारी कर दी है। लेकिन यूजीसी के पास इनके खिलाफ कार्रवार्ई का अधिकार नहीं है। इसके लिए सरकार को ही कुछ कदम उठाने होंगे। छात्रों का भविष्य बिगाडऩे वाली इन फर्जी यूनिवर्सिटीज के ख़िलाफ वो क्या कार्यवाही करती है। ये फर्ज़ी विश्वविद्यालय स्टेट एक्ट, सेंट्रल गवर्मेंट एक्ट और यूजीसी एक्ट में से किसी एक को भी पूरा नहीं करते बावजूद बच्चों को एडमिशन लेते है और उन्हें बेखौफ होकर डिग्री बांटते हैं।

ये है फर्जी विश्विद्यालयों की लिस्ट

1. मैथिली विश्वविद्यालय/ यूनिवर्सिटी, दरभंगा, बिहार।
2. कमर्शियल यूनिवर्सिटी लिमिटेड, दरियागंज, दिल्ली।
3. यूनाइटेड नेशन्स यूनिवर्सिटी, दिल्ली।
4. वोकेशनल यूनिर्विर्सटी, दिल्ली।
5. ए.डी.आर-सेन्ट्रिक ज्यूरिडिकल यूनिवर्सिटी,एडीआर हाउस
6. इंडियन इ ंस्टीट्यूट ऑफ़ साइन्स एण्ड इ ंजीनियरिंग, नईदिल्ली।
7. विश्वकर्मा ओपन यूनिवर्सिटी फोर सेल्फ-एम्लॉइमन्ट, नई दिल्ली-110033
8. आध्यात्मिक विश्वविद्यालय (स्प्रीचुअल यूनिवर्सिटी) रोहिणी, नई दिल्ली-110085
9. बडागानवी सरकार वल्र्डओपन यूनिवर्सिटी (कर्नाटक)।
10. सेंट जॉन विश्वविद्यालय, कृष्णट्म, केरल ।
11. राजा अरेबिक यूनिवर्सिटी, नागपुर ।
12. इ ंडियन इ ंस्टीट्यूट आफ़ ऑल्टरनेटिवमेडिसिन, कोलकाता।
13. इस्टीटयूट ऑफ अल्टरनेटिव मेडिसन एण्ड रिसर्च कलकत्ता-700063.
14. म्हिला ग्राम विद्यापीठ /विश्वविद्यालय (वीमेन्स यूनिवर्सिटी), प्रयाग, इलाहाबाद (यू.पी.)।
15. वाराणसेय संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणसी (यू.पी)/ जगतपुरी, दिल्ली।
16. गांधी हिन्दी विद्यापीठ, प्रयाग, इलाहाबाद (यू.पी.)
17. नेशनल यूनिवर्सिटी आफ़ इलेक्ट्रा े कम्प्लेक्स होमिया पैथी, कानपुर (यू.पी.)
18. नेताजी सुभाष चन्द ्रबोस यूनिवर्सिटी (ओपन यूनिवर्सिटी) अचलताल, अलीगढ, ़ (यू.पी.)
19. उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय, का ेसीकला, मथुरा (यू.पी.)।
20. महाराणा प्रताप शिक्षा निकेतन विश्वविद्यालय, प्रतापगढ़ (यू.पी.)।
21. इन्द्रप्रस्थ शिक्षा परिषद, इन्स्टीट्यूशनल एरिया, नोएडा, (यू.पी.)
22. नव भारत शिक्षा परिषद, अन्नपूर्णा भवन, शक्तिनगर
23. नार्थ ओडीसा यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टैक्नालाजी, उडीसा-757003
24. स्री बोधी एकेडमी ऑफ हायर ऐज केशन पुडुचेरी-605009

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − nine =