कानपुर और गोरखपुर के डीएम को सस्पेंड करने का आदेश, ये है वजह

लखनऊ। अवैध खनन को रोकने लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट की ओर से जारी आदेश की अवहेलना करने वाले दो जिलों के डीएम को सस्पेंड करने का आदेश कोर्ट ने दिया है। कानपुर देहात के डीएम राकेश कुमार सिंह और गोरखपुर के डीएम राजीव के खिलाफ कारईवाई के लिए कोर्ट ने कहा है । दरअसल पूर्व में रामपुर के डीएम रहे राकेश कुमार सिंह ने अवैध खनन रोके जाने के लेकर हाईकोर्ट के आदेश को दरकिनार कर दिया था। इससे खनन माफिया के हौंसले बढ़ते गये। वहीं राजीव रौतेला भी रामपुर में डीएम पद पर तैनात रहे थ्ो। आदेश की अहवेलना के बाद मुख्य न्यायाधीश दिलीप बी. भोसले और न्यायाधीश एमके गुप्ता की बेंच ने मुख्य सचिव को आदेश दिया है कि दोनों डीएम को निलंबित कर उनके खिलाफ तत्काल अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू करें।
सपा शासन काल का है मामला
दरअसल पूरा मामला समाजवादी पार्टी के शासन काल 2०15 का है। सपा सरकार में दोनो ही अधिकारी अपने अपने समय पर रामपुर के डीएम रहे हैं। उस दौरान रामपुर के दढियाल निवासी मकसूद ने अवैध खनन रोकने के लिए याचिका दायर की थी, जिस पर कोर्ट ने कार्रवाई के आदेश दिए थ्ो। 24 अगस्त 2०15 को जारी हाईकोर्ट के आदेश को डीएम की ओर से अनदेखा कर दिया गया, और खनन माफिया का ख्ोल चलता रहा। जिसके बाद कोर्ट ने अब कार्रवाई के आदेश दिए हैं।
अब 16 जनवरी को होगी अगली सुनवाई
हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव को कार्रवाई के आदेश जारी किए हैं। हाईकोर्ट ने दोनो ही अधिकारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई के आदेश दिए हैं जिसके बाद संस्पेंड करने की कार्रवाई की गयी। अब इस मामले में अगली सुनवाई 16 जनवरी को होनी है। सुनवाई के दौरान सचिव को हलफनामें के साथ-साथ पूरी रिपोर्ट भी कोर्ट को बतानी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × five =