यूपी में बनेगा डासना से कानपुर और कानपुर से लखनऊ एक्सप्रेस वे

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में डासना से कानपुर और कानपुर से लखनऊ एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जायेगा। इस एक्सप्रेस वे के बनने के बाद चार घंटे का रास्ता 4० सें 5० मिनट में तय किया जा सकेगा। इसके अलावा ऐसे पब्लिक ट्रांसपोर्ट बनाने पर जोर दिया जायेगा जहां से लोगों की जरूरतों को पूरा किया जा सका। इस तरह की घोषणा केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लखनऊ के डा. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान की। इस दौरान उन्होंने तकनीक और कम लागत में गुणवत्ता पूर्ण सड़कों का निर्माण कैसे हो इस बारे में भी विस्तार से चर्चा की। बीबीएयू में शुरू हुई इस दो दिवसीय प्रेसवार्ता के दौरान केन्द्रीय परिवहन मंत्री ने बताया कि कानपुर से लखनऊ की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने का काम तेजी से चल रहा है।
रोड बनने से रोजगार के साथ दूर होगी गरीबी
केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि जब हाइवे और रोड मजबूत होंगी तो गरीबी भी मिटेगी और रोजगार भी बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि गांवों को मुख्य मार्ग से जोड़ने और हाईवे की योजनाओं को बनाने का काम अटल बिहारी बाजपेयी का जो सपना था इसके लिए कमेटी बनी है जिसमें नाबार्ड समेत कई विभाग के अफसर भी शमिल हैं। उन्होंने कहा कि नार्बाड की रिपोर्ट आई कि 6.5० लाख गांव सड़कों से जुड़ जाएं तो देश की जीडीपी सुधर जाएगी क्योंकि सड़कों के आभाव में किसान अपनी फसल नहीं बेच पाता, बच्चे स्कूल नहीं जा पाते। कहा कि मुझे प्रधानमंत्री ग्राम सड़क बनाने का मौका मिला। इसके बाद 1.6० लाख गांवों को हमने सड़क से जोड़ा है।
अच्छी सड़के और ज्यादा बिजली देने की अपील
केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कहा कि प्रदेश की जनता को दिक्कत नहीं होनी चाहिए। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा बिजली के साथ अच्छी सड़के दीजिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए किसी भी स्तर पर पैसों की कमी नहीं होने दी जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि योगी जी आप पानी के मामले में लकी हैं क्योंकि यूपी में पानी की कमी नहीं है।
अच्छी सड़क बनाने का दिया ये सुझाव
केन्द्रीय मंत्री ने अच्छी सड़क बनाने के लिए अपने सुझाव भी दिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस देश में कम लागत में अच्छी सड़के बनायी जा सकती हैं। लेकिन कोई भी अच्छे काम के एजेंडे पर काम नहीं करना चाहता है। उन्होंने कहा कि अच्छी सड़कों के लिए सीमेंट अगर सस्ता चाहिए तो हम देने को त्ौयार हैं उन्होंने कहा सीमेंट के पैकेटी कीमत भी 12० से 13० रुपए ही होगी। उन्होंने बताया कि डामर में प्लास्टिक डालकर भी अच्छी सड़क बनाई जा सकती है। नगर निगम प्लास्टिक जुटाए और उसका इस्तेमाल सड़क बनाने में होना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने बताया कि 84 हजार किलोमीटर सड़कें हुई गड्ढामुक्त
कार्यक्रम में उपस्थित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा बताया कि हमने सरकार बनते ही गड्ढा मुक्त सड़कों की घोषणा की और इस पर काम भी किया। उन्होंने कहा कि 1.21 लाख किमी. गड्ढे वाली सड़कें थी, जिसमें 15 जून तक 84 हजार किमी. सड़कें गड्ढा मुक्त हुई हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को भी बधाई देते हुए कहा कि अधिकारी बधाई के पात्र हैं क्योंकि उन्होंने अपना काम बड़ी जिम्मेदारी से किया है।
7०० की जगह अब मिलेंगे 1००० करोड़
केन्द्रीय मंत्री नितिन गटकरी ने कहा कि अब यूपी के लिए सेंट्रल रोड फंड से 1००० करोड़ रुपए का बजट दिया जायेगा। जबकि इससे पहले यह बजट 7०० करोड़ रुपए निर्धारित था। इस फंड से राजमार्ग और प्रमुख सड़कें बनाने का काम होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 + 3 =