Corona Double Mutant Virus: संक्रमण का डबल म्यूटेंट वेरिएंट भारत में बरपा रहा कहर, चिंता में WHO

Corona Double Mutant Virus: कोरोना संक्रमण से अब तक भारत मे ढाई लाख लोगों की मौत् हो चुकी है, इसमें कोरोना की दूसरी लहर में सबसे अधिक लोगों ने दम तोड़ा है। वहीं अभी हालातों से कब राहत मिलेगी इस पर भी कुछ स्पष्ट नहीं है, बस जानकारों के अपने अलग—अलग तर्क हैं। हालांकि ये भी तस्वीर साफ हो चुकी है, कि कोरोना की तीसरी लहर आयेगी और बच्चों के प्रति घातक होगी। ऐसे में कई देशों ने इस पर अभी से काम करना शुरू कर दिया है। वहीं मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत के लिए सबसे अधिक समस्या का विषय Corona Double Mutant Virus संक्रमण का डबल म्यूटेंट वेरिएंट है। जो भारत के लिए मुसीबत बना हुआ है, अब इस पर विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO ने भी चिंता जता दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सोमवार को कहा है कि कोरोना का भारतीय वेरिएंट काफी ज्यादा संक्रामक है और ये पूरी दुनिया के लिए चिंता और सरोकार का विषय है।

भारत में नये वेरियंट का नाम B.1.617
भारत में पाए जा रहे इस नए वेरियंट को B.1.617 के नाम से जाना जा रहा है। यूएन की स्वास्थ्य एजेंसी का कहना है कि कोविड का ये नया वेरिएंट भारत में पिछले साल अक्टूबर माह में पहली बार देखा गया था। कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओरिजनल की तुलना में कहीं ज्यादा आसानी से प्रसारित होता है। ये भी आशंका है कि संभवत: नए वेरिएंट ने वैक्सीन से बचाव के लिए भी कुछ प्रतिरोध विकसित कर लिया है।

इससे पहले भी तीन वेरियंट आये सामने
इससे पहले कोरोना के तीन वेरियंट सामने आ चुके हैं। जिसमें यूके, ब्राजीलियन और साउथ अफ्रीकन वेरियंट के रूप में पहचाना जाता है। ये वेरिएंट कोरोना के मूल वायरस से अधिक खतरनाक व संक्रामक माने जाते हैं। भारत इस वक्त कोरोना की दूसरी लहर से संघर्ष कर रहा है। रोजाना कोरोना के 4 लाख से ज्यादा मरीज सामने आ रहे हैं। अब ऐसा भी माना जा रहा है कि इस ताबाही से निपटने में काफी समय लग जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here