हनुमान मंदिर में बुक्कल नवाब ने चढ़ाया घंटा, देवबंद नाराज

लखनऊ। बुक्कल नवाब ने राजधानी के हजरगंज स्थित हनुमान मंदिर में मंगलवार को एक पीतल का घंटा चढ़ाया। बीजेपी से एमएलसी पद के उम्मीदवार बुक्कल नवाब ने इस दौरान जय श्रीराम के नारे भी लगाये और अयोध्या में मंदिर बनने पर वहां दस लाख रुपए का मुकुट भी चढ़ाने का ऐलान किया है। बुक्कल नवाब ने कहा कि अयोध्या में रामलला की जन्म भूमि पर ही भव्य मंदिर बनेगा। वहीं बुक्कल नवाब की इस पूजा अर्चना से देवबंदी उलमा ने इस पर कड़ा ऐतराज जताया और कहा कि इस्लाम में दूसरे धर्म की पूजा पद्धति अपनाने की इजाजत नहीं है। हालांकि बुक्कल नवाब ने घंटा चढ़ाये जाने की घोषणा पूर्व में की थी। जिसके बाद वह मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे भगवा रंग के कुर्ते में वह पीतल का घंटा लिए मंदिर पहुंच गये। वहां उन्होंने घंटा चढ़ाया और महावीरी तिलक भी लगाया। इस दौरान उन्होंने जय श्रीराम के नारे लगाये। मदरसा दारुल उलूम अशरफिया के मोहतमिम मौलाना सालिम अशरफ कासमी ने कहा कि किसी भी दिखावे के लिए यदि कोई दूसरे मजहब के रीति रिवाज जैसे पूजा-अर्चना कर अल्लाह के साथ किसी अन्य को शरीक करता है तो वह इस्लाम मजहब से खारिज माना जाता है। उलमा ने कहा कि यदि बुक्कल नवाब ने ऐसा किया है तो उन्हें तौबा करनी चाहिए।
एक माह पहले खरीदा था घंटा
घंटा चढ़ाये जाने के बाद बुक्कल नवाब मीडिया से भी रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमने घंटा चढ़ाने की पूर्व में घोषणा की थी इसके लिए एक माह पहले ही घंटा खरीद लिया था। उन्होंने बताया कि उन्होंने कहा कि जब सपा में थे तब भी अयोध्या में श्रीराम मंदिर बनाने की मांग की थी और आज भी उस बात पर कायम हैं। श्रीराम मंदिर बना तो वह दस लाख रुपये का मुकुट भी चढ़ाएंगे। यह पूछने पर कि हनुमान जी के दर्शन करने पर उनके खिलाफ फतवा जारी हो गया तो क्या करेंगे? इस पर वह बोले, वह किसी फतवे से नहीं डरते। मन में जो आता है वह करते हैं। हनुमान जी संकटमोचक हैं। उनसे आज तक जो भी मांगा वह प्राप्त हुआ। इसीलिए घंटा चढ़ाने के साथ उनके दरबार में हाजिरी लगाने आया हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + 13 =