बजट-2०18: 1.48 लाख करोड़ के बजट से इस तरह सुधरेगी रेलवे की दशा

न्यूज डेस्क। बजट पेश करते समय वित्त मंत्री ने रेलवे के लिए भी पिटारा खोला है। उन्होंने बताया कि रेलवे के लिए 1.48 लाख करोड़ का बजट रखा गया है। इससे स्टेशनों को सुधारा जायेगा साथ ही 6०० स्टेशनों को वाईफाई सुविधा से लैस किया जायेगा। इसी बजट में स्टेशनों पर यात्रियों को मिलने वाली सभी मूलभूत सुविधाओं में सुधार भी किया जायेगा। सुविधाओं को बढ़ाया भी जायेगा। लोकल ट्रेनों का भी दायरा बढ़ाया जायेगा।

1.48 लाख करोड़ से इस तरह सुधरेगी रेलवे की व्यवस्था

-देश भर के 6०० स्टेशन होंगे वाई फाई
-इन स्टेशनों पर लगाये जायेंगे सीसीटीवी कैमरे
– मुंबई में लोकल ट्रेन का दायरा बढ़ाया जाएगा
-माल ढुलाई के लिए 12 वैगन भी बनेंगे।
– मुंबई में 9० किलोमीटर की पटरी और बढ़ाई जाएगी।
– कई जगहों पर एस्केलेटर भी लगाए जाएंगे।
-36०० नई लाईनें बिछाई जाएंगी।

रेलवे में यात्रियों के लिए ये भी होगा खास
-यात्रियों की सुरक्षा के लिए एक राष्ट्रीय रेल संरक्षा कोष बनाया जाएगा। इसके लिए अगले 5 साल में 1 लाख करोड़ रुपये की राशि रखी गयी है।

मानव राहित रेलवे क्रासिंग होंगे समाप्त
-मानव रहित रेलवे क्रॉसिग दुर्घटनाओं को रोका जा सके इसके लिए ब्राड गेज लाइन पर मानव रहित रेलवे फाटकों को 2०2० तक खत्म कर दिया जाएगा। वर्तमान में देश भर में करीब 4267 क्रासिंग को बंद किया जायेगा।

18 हजार किलोमीटर तक डबल होगी रेलवे लाइन
बजट में वित्त मंत्री ने बताया कि अब रेलवे ट्रैक को 18 हजार किलोमीटर तक डबल किया जायेगा। रेलवे की क्षमताओं के दोहन में आने वाली बाधाओं को दूर करने के मकसद से आमान परिवर्तन का काम तेजी से किया जा रहा है। मंत्री ने बताया कि 36,००० किमी रेल पटरियों के नवीकरण का भी लक्ष्य रखा गया है।

रेलवे के विधुतीकरण का बढ़ेगा दायरा
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि रेलवे नेटवर्क का विद्युतीकरण किया जाएगा। साल 2०18-19 के दौरान 12०० वेगन्स और 516० कोच तैयार किए जाएंगे। सुरक्षा को लेकर नए इंतजाम किए जाएंगे। मॉडल ट्रेन 2०18-19 में चलाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 5 =