योगी सरकार में एक और बड़ी कार्रवाई, जेई बने 79 पुरुषों की सेवा समाप्त

लखनऊ। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के नया अध्यक्ष नियुक्त होने के बाद आयोजित हुई पहली बैठक में ही एक बड़ी कार्रवाई कर दी गयी। आयोग ने ऐस लोगों की जेई पद हटा दिया जो महिलाओं की जगह नियुक्त हो गये थ्ो। योगी सरकार में एक ये बड़ी कार्रवाई बतायी जा रही है। 79 जेई की नियुक्ति सपा शासन काल में हुई थी जो कि महिला कोटे में हुई थी। ये अवर अभियंता अलग-अलग विभागों में कार्यरत हैं। हालही में सरकार ने अधीनस्थ सेवा चयन आयोग का नया अध्यक्ष सीबी पालीवाल को बनाया है। सीबी पालीवाल ने गुरुवार को पहली बैठक की। बैठक में जेई कि नियुक्ति में हुई गड़बड़ी का खुलासा होने के पर 79 जेई को उनके पदों से मुक्त कर दिया गया।

2०15 में 151 पदों पर होनी थी महिला की नियुक्त और नियुक्त कर दिए पुरुष
सपा शासन काल में 151 पदों पर महिलाओं की नियुक्ति होनी थी। लेकिन सभी नियमों को दरकिनार करते हुए 79 पदों पर पुरुषों की नियुक्त कर दी गयी थी। हालांकि उस समय अभियंता एवं तकनीकी पद सामान्य चयन के तहत 757 पदों पर भर्ती की गई थी। इसमें 2० प्रतिशत पद महिलाओं के लिए आरक्षित थे। ऐसे में 151 पदों पर महिलाओं की नियुक्ति की जानी थी, लेकिन सिर्फ 72 पदों पर की गई। परिणाम आने के बाद महिला अभ्यर्थियों ने खूब हंगामा काटा था लेकिन उनकी कहीं पर सुनवाई नहीं हुई थी। योगी सरकार में एक्शन होने के बाद महिला अभ्यर्थियों ने राहत की सांस ली है।

महिला अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में भी दी थी चुनौती
सपा सरकार में कहीं से भरी राहत न मिलती देख कुछ महिला अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट का भी सहारा लिया था। जिसमें भाजपा सरकार में नियुक्त अध्यक्ष सीबी पालीवाल ने पद संभाला तो इस बारे में मिली शिकायतों का परीक्षण किया तो सच सामने आ गया और श्री पालीवाल ने कार्रवाई करने में कोई देरी नहीं की।

अभी जो सामने आया है उसमें महिलाओं की सीटों पर पुरुषों का चयन हुआ था। ऐसे में जहां ये काम कर रहे हैं उनके विभागों को पत्र भ्ोजा जायेगा। इसके लिए जांच कमेटी भी गठित की जायेगी।
सीबी पालीवाल अध्यक्ष अधीनस्थ सेवा चयन आयोग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine − three =