कंसास शूटिंग: भारतीय की हत्या मामले में हमलावर पर आरोप तय, गोली मारने से पहले चिल्लाकर कहा था- मेरे देश से दफा हो जाओ

अमेरिका के कंसास में भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचिभोटला की हत्या करने वाले तथा दो अन्य को जख्मी करने के मुख्य आरोपी एडम प्यूरिंटन को घृणित अपराध और हथियार रखने को लेकर अभ्यारोपित किया गया है। संघीय ग्रैंड जूरी ने कंसास में ऑलथे के 51 वर्षीय प्यूरिंटन को कल अभ्यरोपित किया। उस पर 22 फरवरी को शहर के एक बार में गोलीबारी करने का आरोप है। न्याय विभाग ने अभ्यारोपण का ऐलान किया है, जिसने प्यूरिंटन पर गोलीबारी करने तथा नस्ल, रंग, धर्म और देश के आधार पर कुचिभोटला की हत्या करने तथा एक अन्य भारतीय अलोक मदासानी की हत्या की कोशिश का आरोप लगाया है।

चश्मदीदों ने कहा कि प्यूरिंटन पहले दो भारतीयों पर चिल्लाया कि उसके देश से दफा हो जाओ और फिर उनपर हमला कर दिया। बीते 24 वर्षीय अमेरिकी इयान ग्रिलॉट गोलीबारी में हस्तक्षेप करने की कोशिश में जख्मी हो गया था। प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि प्यूरिंटन को अधिकम मौत या उम्र कैद की सजा हो सकती है। न्याय विभाग बाद की तारीख पर यह तय करेगा क्या इस ममाले में मौत की सजा मांगनी चाहिए।

बता दें एक महीने के भीतर अमेरिका में भारतीय की हत्या का यह दूसरा मामला सामने आया है। इससे पहले कैलिफोर्निया में रहने वाले तेलंगाना के 26 वर्षीय मुबीन अहमद  को 3 जून को गोली मार दी गई थी। मुबीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमला उस जगह हुआ जहां युवक काम करता था। वह एक स्टोर में पार्ट टाइम काम करता था। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि उस दिन मुबानी स्टोर पर काम कर रहा था, तभी कुछ अश्वेत मूल के लोग कुछ खरीदारी करने आए।

डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद से अमेरिका में भारतीय मूल के लोगों पर हिंसक घटनाएं बढ़ने की कई खबरें सामने आई हैं। मई महीने में भारतीय-अमेरिकी डॉक्टर रमेश कुमार अमेरिका के मिशिगन में एक कार में मृत पाए गए थे। 32 साल के रमेश कुमार की गोली मारकर हत्या की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty + 14 =