बाराबंकी-पोस्टमॉर्टम के बाद भी वजह स्पष्ट नहीं, विसरा सुरक्षित, लीपापोती शुरू

लखनऊ। बाराबंकी में 6 किलोमीटर के दायरे में हुई 12 मौतों के बाद 11 मृतकों का पोस्टमार्टम हो चुका है। लेकिन मौत का कारण क्या था इस बारे में सीएमओ कुछ नही बता पाये हैं और विसरा को सुरक्षित रख लिया गया है।
वहीं अधिकारी एक दूसरे पर अपनी जिम्मेदारी डालने में जुटे हुए हैंे तो दूसरी ओर पूरे प्रकरण में लीपापोती भी शुरू हो चुकी है। बाराबंकी के डीएम और एसपी ने ये जरूर कहा है कि लोगों की मौत स्पि्रट पीने व ठण्ड से बीमार होेने के कारण हुई है। वहीं प्रेस वार्ता के दौरान पत्रकारों को अधिकारियों की ओर से पूरी तरह संतुष्ट करने का प्रयास किया गया। लेकिन कई सवाल ऐसे थ्ो जिनका जवाब देने के लिए अधिकारी बचते नजर आये। सबसे बड़ा ये सवाल था कि इतनी मौते एक इत्तेफाक नहीं हो सकता। जिलाधिकारी के मुताबिक तीन की स्पि्रट पीने से एक की हृदय गति रूक जाने से, दो की खेत में पानी लगाने के कारण ठण्ड से बीमार होने एवं अन्य की बीमारी के कारण मौत हुई है। डाक्टरों के मुताबिक छ: स्पि्रट पी थी। आबकारी विभाग के अधिकारियो के मुताबिक ठण्ड से ये मौते हुई हैं। वहीं12 लोगों की मौत की जानकारी प्रशासन को मिली है। जिसमें एक की तलाश जारी है। जानकारी, एक की तलाश अब भी जारी। कुल 11 की मिली अब तक जानकारी, एक की हुई अन्तेष्टी नहीं हुआ पोस्टमार्टम। सीएमओ ने कहा इस उम्र के लोगों की ठण्ड के लगने से नहीं होती मौते ऐसे में सवाल के घेरे में नजर आते हैं आबकारी अधिकारी? क्योंकि यदि आबकारी अधिकारी अपने विभाग को सतर्क रखते तो नहीं होती ऐसी वारदात? इस घटना को गौर से देखा जाये तो प्रशासन व आबाकरी विभाग पर उंगलियां उठती हुई नजर आती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − 12 =