3० करोड़, 1० लाख 82 हजार का बजट शीतलहर और ठंड से बचने के लिए जारी

लखनऊ। राज्य सरकार ने गरीब, निराश्रित एवं असहाय तथा कमजोर वर्ग के व्यक्तियों को शीतलहरी से बचाव के लिए प्रदेश के सभी जिलों को अब तक कुल 3० करोड़ 1० लाख 82 हजार रुपये की धनराशि जारी की गयी है। इसके साथ ही कड़ाके की ठण्ड को देखते हुए कम्बल वितरण एवं अलाव की व्यवस्था, शेल्टर होम्स की स्थापना करके लोगों को राहत प्रदान की जा रही है। राज्य सरकार का प्रयास है कि ठण्ड से उत्पन्न स्थिति को देखते हुए गरीबों और असुरक्षित व्यक्तियों को सुरक्षित किया जाये। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशन में गरीबों को अस्थायी आश्रय, भोजन, कपड़े, चिकित्सकीय देखभाल की व्यवस्था, कम्बल वितरण एवं अलाव जलाने के लिए पूर्व में जारी गाइड लाइन्स के अनुसार क्रियान्वयन हेतु सरकार द्बारा निर्देश दिए गए हैं।
प्रदेश के विशेष सचिव एवं राहत आयुक्त संजय कुमार शुक्रवार आज प्रदेश के 8 जनपदों के लिए ०1 करोड़ 59 लाख 12 हजार रुपये की धनराशि जारी करते हुए जिलाधिकारी बाराबंकी, मथुरा, मऊ, सुल्तानपुर, कुशीनगर, हापुèड,è झांसी तथा हमीरपुर को निर्देश दिए गये हैं कि इसका उपयोग गृह विहीन, निराश्रित, असहाय तथा कमजोर वर्ग के असुरक्षित व्यक्तियों के ठण्ड से बचाव हेतु कम्बल वितरण एवं अलाव की व्यवस्था के लिए किया जाए। आवंटित धनराशि में जनपद बाराबंकी को कम्बल वितरण हेतु 21.9० लाख, अलाव हेतु 3 लाख, मथुरा को कम्बल वितरण हेतु 25 लाख, मऊ को कम्बल वितरण हेतु 2० लाख, अलाव हेतु 2 लाख, सुल्तानपुर को कम्बल वितरण हेतु 12.5० लाख, अलाव हेतु 2.5० लाख, कुशीनगर को कम्बल वितरण हेतु 3० लाख, अलाव हेतु 3 लाख, हापुड़ को कम्बल वितरण हेतु 4.97 लाख, अलाव जलाने हेतु 1.5० लाख, झांसी को कम्बल वितरण हेतु 9.75 लाख एवं अलाव हेतु 1 लाख तथा जनपद हमीरपुर को कम्बल वितरण हेतु 2० लाख एवं अलाव जलाने के लिए 2 लाख रुपये का आवंटन किया गया है। राहत आयुक्त ने जिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिये है कि आवंटित धनराशि की उपयोगिता प्रमाण पत्र तथा कम्बल वितरण, अलाव व्यवस्था तथा रैनबसेरा के संबंध में निर्धारित प्रारूप पर प्रतिदिन सूचना राहत आयुक्त कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × five =