2०18 नया बजट पेश, किसानों को दिखाया सपना, करदाताओं को राहत नहीं, निवेशकों को झटका

Foto Loksabha TV

न्यूज डेस्क नई दिल्ली। बजट 2०18 गुरुवार को वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पेश कर दिया। 2०19 में लोकसभा को चुनाव को देखते हुए बजट को लेकर आमजन ने जो उम्मीद की थी वह नहीं हो सका। और लोगों की उम्मीदों पर पानी फिर गया। नये बजट में किसानों को एक सपना दिखाया गया है लेकिन करदताओं को कहीं से भी राहत नहीं प्रदान की गयी है। जबकि निवेशकों को भी झटका लगा है। बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने गांव के विकास समेत किसानों को राहत के साथ-साथ हेल्थ, रेलवे, टैक्स, रोजगार और शिक्षा व्यवस्था के लिए कई बड़े ऐलान किए। वित्त मंत्री ने ये भी बताया कि अब राष्ट्रपति के वेतन में बढ़ोत्तरी की जायेगी जोकि 5 लाख हो जायेगी। जबकि उपराष्ट्रपति 4 लाख और राज्यपाल का वेतन 3.5 रुपए किया गया है। वहीं इनकम टैक्स की दरो में कोई बदलाव नहीं किया गया है। ऐसे में मिडिल क्लास के लोगों को कहीं पर राहत नहीं मिलेगी। आमदनी का 4० हजार रुपए घटाकर टैक्स लगाया जायेग। उदाहरण के तौर पर देखतें तो एक लाख रुपए की आमदनी पर 4० हजार को अलग कर श्ोष 6० हजार पर टैक्स देना होगा।

बजट से जुड़े ये है कुछ अहम बिन्दु 

-इनकम टैक्स के दरों में कोई भी बदलाव नहीं
-नौकरीपेशा को टैक्स में कोई छूट नहीं                                                                                      -मेडिकल खर्च पर छूट 15 हजार से बढ़ाकर 4० हजार रुपए किया
-कॉर्पोरेट टैक्स में कंपनियों को भारी छूट
-एक लाख तक लॉन्ग टर्म कैपिटल पर 1० लाख की छूट
-टैक्स देने वालों की संख्या 19.25 लाख बढ़ी, 9० हजार करोड़ ज्यादा कलेक्शन
-25० करोड़ टर्नओवर वाली कंपनियों को राहत, देना होगा 25% टैक्स
-इस साल डायरेक्ट टैक्स 12.6 प्रतिशत बढ़ा
-वरिष्ठ नागरिकों को 5० हजार तक के ब्याज पर कोई टैक्स नहीं. कुछ खास बीमारियों में बुजुर्गों की छूट बढ़ी.
-मेडीक्लेम पर 5० हजार तक की छूट
स्टैंडर्ड डिडेक्शन 4०,००० रुपए किया
-काले धन के खिलाफ मुहिम से डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन बढ़ा
-बजट के लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस भी अब टैक्स नेट में, एक लाख तक लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस पर 1०% कर
-ईपीएफ में नए कर्मचारियों का 12% सरकार देगी, अब तक 8.33% सरकार देती रही है.

बजट में आगे क्या विस्तार से पढ़े कुछ ही देर में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × four =