कासगंज-आंख में गंभीर चोट के बाद भी अकरम ने कहा सबको माफ किया

FOTO-ANI

लखनऊ। कासगंज हिंसा में बिना किसी गुनाह के सजा पाये हुए अकरम ने कहा हम शांति चाहते हैं और हमें किसी से कुछ नहीं कहना है सभी हमारे भाई हैं हमने सबको माफ किया। 35 वर्षीय अकरम 26 जनवरी के दिन कासगंज में हुई हिंसा के दौरान अकरम बुरी तरह से घायल हो गये थ्ो जिसमें उनकी आंख में गंभीर चोटे आयी थी इस दौरान उन्हें चोट वाली आंख से दिखना भी बंद हो गया था। अकरम अपनी गर्भवती पत्नी की डिलीवरी के लिए कासगंज होते हुए अलीगढ़ जा रहा था लेकिन कासगंज पहुंचते ही लोगों ने उसे घेर कर हमला बोल दिया। हालांकि भीड़ में से ही कुछ लोगों ने अकरम को बचाया और आगे जाने का रास्ता दिया। हिंसा में अकरम की आंख में गंभीर चोट लगी है और अब भी उसका इलाज जारी है। हादसे के अगले दिन अकरम की पत्नी ने एक बेटी को जन्म दिया। वहीं कासगंज में हालात अब नियंत्रण में हैं. पुलिस ने हिसा के मामले में अब तक 7 एफआईआर दर्ज किए हैं. अब तक 114 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें 33 का नाम एफआईआर में है. इसके अलावा 81 लोगों को एहतियातन गिरफ़्तार किया गया है। पुलिस की गश्त अभी भी जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − ten =