आंगनबाड़ी वर्कर्स पर पुलिस ने बरसायी लाठियां

लखनऊ। अपनी 12 सूत्रीय मांगो को लेकर हजरतगंज चौराहे पर प्रदेश भर से आई करीब 5 हजार आंगनबाड़ी वर्कर्स पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। नारज वर्कस ने हजरतगंज चौराहे की सड़क जाम कर दी थी। जाम की स्थिति को देखकर पुलिस के हाथ पैर फूल गये। पुलिस ने इस दौरान आंगनबाड़ी कर्मचारी एवं सहायिका एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष गीतांजलि मौर्या, प्रदेश महामंत्री प्रभावित, प्रदेश कोषाध्यक्ष जरीना खातून, गीता पाण्डेय और आशा बौद्ध को हिरासत में लिया है। वहीं प्रदेश अध्यक्ष ने प्रदेश सरकार से मांग करते हुए कहा कि हमें राज्य कर्मचारियों को दर्जा दिया जाना चहिए। उन्होंने कहा कि उनके मानदेय को 18 हजार किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर हमारी मांगें पूरी न हुई तो अनिश्च‍िकालीन हड़ताल की जाएगी।

ये हैं उनकी मांगे

1. आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को कम से कम 18 हजार और सहायिकाओं को 9 हजार रुपए मानदेय दिया जाए।
2.मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को सामान्य योग्यता और सामन्य कार्य के आधार पर कार्यकत्रियों के बाराबर मानदेय दिया जाए।
3. आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को योग्यता एवं वरीयता के आधार पर शत प्रतिशत मुख्य सेविका के पद पर प्रमोशन दिया जाए।
4. प्रदेश में जिन आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों और सहायिकाओं का मानदेय रुका है उनका भुगतान जल्द से जल्द करवाया जाए।
5. बिहार की तर्ज पर कार्यकत्रियों और मातृ समिति के खातों में पोषाहार का धन भेजा जाए, जिससे पौष्टिक खाद्य सामग्री का वितरण किया जा सके।
6.आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को होमटेक राशन का सत्यापन प्रधानों से अलग रखा जाए।
7. पिछली सरकार ने 1 अक्टूबर को बढ़े हुए मानदेय के एरियर की घोषणा की थी। उसका भुगतान करवाया जाए।
8. स्कूल की तरह आंगनबाड़ी केन्द्रों में गर्मी की छुट्टी स्वीकृत की जाए।
9.पेंशन की सुविधा दी जाए।
1०.आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों और सहायिकाओं को हर साल 3० दिन का चिकित्सा अवकाश मानदेय सहित दिया जाए।
11.आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों और सहायिकाओं को हर साल कम से कम 5०० और 2०० रुपए का वार्षिक वेतन वृद्धि दी जाए।
12.आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को मेगा कॉल सेंटर स्कीम से अलग रखा जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 + 10 =