वाह रे वीडियो साहब, शादी अनुदान के नाम पर थमा दिया डेथ सार्टिफिकेट

न्यूज डेस्क। एक पिता ने अपनी बेटी की शादी के लिए अनुदान के रूप में रूपए क्या मांग लिए कि उसे बेटी का डेथ सार्टिफिकेट ही पकड़ा दिया गया। मामला गोंडा जिले का है। दरअसल जब भी शादी अनुदान लिया जाता है तो उसके पहले अनुदान जिसके लिए लिया जा रहा है वह जीवित है भी या नहीं उसकी जांच कर रिपोर्ट लगानी होती है। लेकिन वीडियो साहब है कि बेटी का डेथ सार्टिफिकेट ही लगा दिया। बताया जा रहा है ये ये सब एक हजार रूपए न देने की वजह से हुआ है। पीडि़त पिता ने अब उच्च अधिकारियों से मदद की गुहार लगायी है। गोंंडा के ग्राम पंचायत बसंतपुर के निवासी सत्यदेव दुबे ने छह मई को बेटी चंदा की शादी करुवापारा निवासी ओम प्रकाश तिवारी के बेटे प्रेम प्रकाश तिवारी के साथ तय की थी। निर्धारित तिथि को शादी संपन्न हो गई। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण उन्होंने समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित शादी अनुदान योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन किया था। इसपर संबंधित ब्लॉक को जांच के लिए भेजा गया।
अनुदान योजना के तहत लाभ को लेकर सचिव के माध्यम से रिपोर्ट संबंधित विभाग को भेजने की व्यवस्था है। बकौल पीडि़त गांव में तैनात ग्राम पंचायत अधिकारी हरिश्चन्द्र शुक्ल ने रिपोर्ट लगाने के नाम पर एक हजार रुपये की मांग की। न दे पाने पर परिवार रजिस्टर में विवाहित बेटी चंदा को 18 मई 2003 को मृतक दिखा दिया। जबकि शैक्षिक अभिलेख व गत वर्ष जारी परिवार रजिस्टर की नकल में वह जीवित दर्ज। वहीं, सचिव ने आरोपों को निराधार बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.