UPPSC एग्जाम 15 को, STF की राडार पर रहेंगे साल्वर, 20 जिलों में बनाये गये केन्द्र

लखनऊ। इस बार 15 दिसंबर को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पीसीएस 2019 प्रारंभिक परीक्षा में साल्वर गैंग पर निगरानी के लिए एसटीएफ की कड़ी निगरानी रहेगी, साथ फर्जी अभ्यर्थियों की रोकथाम के लिए इस बार उनकी उपस्थिति बायोमीट्रिक के माध्यम से दर्ज हो सकती है। सभी अभ्यर्थियों को परीक्षा केन्द्र पर करीब 40 मिनट पहले पहुंचना होगा। परीक्षा केन्द्र पर कोई भी परीक्षार्थी यदि मोबाइल या अन्य कोई सामान लेकर जाता है उसे जब्त कर लिया जायेगा। परीक्षा केन्द्र के दायरे में जैमर की भी व्यवस्था की जा रही है। 15 दिसंबर को प्रस्तावित परीक्षा की तैयारियों को लेकर जिलों के नोडल अधिकारियों की ओर से एलर्ट रहने को आदेश भी जारी हो चुके हैं। ऐसे में यदि किसी भी परीक्षा केन्द्र में अगर कोई गड़बड़ी की शिकायत मिलती है तो नोडल अफसरों पर कार्रवार्ई सकती है। केन्द्रों पर सीसीटीवी की निगरानी में परीक्षा करायी जायेगी।
प्रश्नपत्र खोलते समय होगी वीडियो रिकार्डिंग
पीसीएस 2019 प्रारंभिक परीक्षा से पहले केन्द्रों पर जो प्रश्नपत्र खोले जायेंगे उसकी पूरी वीडियो रिकार्डिंग करनी होगी। रिकार्डिंग परीक्षा से शुरू होने से लेकर आखिरी तक संभालकर रखनी होगी। प्रश्नपत्र को खोलते समय पांच लोगों की मौजूदगी रहेगी। इस दौरान नोडल अफसर की भूमिका अहम होगी। सभी उपस्थित लोगों के मोबाइल स्विच ऑफ रहेंगे।
लखनऊ समेत 20 जिलों में होगी परीक्षा
पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा दो पालियों में सुबह 9.30 से 11.30 और 2.30 से 4.30 बजे तक आगरा, प्रयागराज, आजमगढ़, बरेली, बाराबंकी, गोरखपुर, अयोध्या, गाजियाबाद, जौनपुर, झांसी, कानपुर नगर, लखनऊ, मेरठ, मुरादाबाद, रायबरेली, सीतापुर, वाराणसी, मथुरा व मीरजापुर जिलों में होगी। सभी जिलों में एडीएम को नोडल अधिकारी बनाया गया है।
डा. प्रभात कुमार अध्यक्ष उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग
परीक्षा से जुड़ी सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं, इस बार 5,44,664 अभ्यार्थियों ने आवेदन किया था। ऐसे में किसी भी केन्द्र अव्यवस्था न होने पाये इसके लिए नोडल अफसरों को भी तैनात किया गया है।
डा. प्रभात कुमार अध्यक्ष उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × four =