यूपी बोर्ड- सख्ती का असर, छोड दी 10 लाख छात्रों ने परीक्षा

google image

लखनऊ। यूपी बोर्ड- सख्ती का असर, छोड दी 10 लाख छात्रों ने परीक्षा।  राजधानी समेत पूरे यूपी भर में यूपी बोर्ड 10 वीं और बारहवीं की परीक्षाएं मंगलवार 6 फरवरी से शुरू हुई थी । इन चार दिनों में अबतक 10 लाख छात्र-छात्राओं ने परीछा छोड़ दी है ।

पिछली बार की अपेक्षा इस बार अधिक परीक्षार्थी इस परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। इस बार 10वीं की परीक्षा में 37,12,508 छात्र जबकि 12वीं की परीक्षा में 30,17,032 छात्र शामिल हो रहे हैं। पिछले साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा में कुल 34,01,511 छात्रों ने जबकि 12वीं की परीक्षा में कुल 26,54,492 छात्र-छात्राएं शामिल हुए थे। 10वीं की परीक्षा 22 मार्च को जबकि 12वीं की परीक्षा 10 मार्च को खत्म होगी। छात्र परीक्षा से जुड़ी अन्य जानकारी यूपी बोर्ड की वेबसाइट या अपने स्कूल से भी ले सकते हैं।
सरकार ने नकल रोकने लिए दिए सख्त निर्देश
यूपी सरकार ने सभी संबंधित अधिकारियों को प्रदेश भर में नकल रोकने के लिए सख्त निर्देश जारी किए है। परीक्षा के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं। पहली पाली में हाईस्कूल की गृह विज्ञान व इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों के हिन्दी प्रथम प्रश्नपत्र की परीक्षा होगी। वहीं, दूसरी पाली में इंटरमीडिएट की परीक्षा आयोजित होगी।
लखनऊ में 137 केन्द्रों पर आयोजित हो रही परीक्षा
वहीं प्रदेष की राजधानी में 137 केन्द्रों पर बोर्ड परीक्षा आयोजित होगी। इन सभी केन्द्रों पर एक लाख 6 हजार परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक मुकेष कुमार सिंह ने बताया कि परीक्षा केन्द्रों पर किसी प्रकार की गडबडी न होने पाये इसे लिए सभी की अपनी-अपनी जिम्मेदारी तय कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि परीक्षा जिन केंद्रों पर हो रही है वहां अब एक कमिटी प्रश्नपत्रों और कॉपियों की सुरक्षा करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − seventeen =