सेना दिवस पर जाबांज शहीद सैनिकों को दी गयी श्रद्धांजलि

लखनऊ। सेना दिवस के उपलक्ष्य में सोमवार को को मध्य कमान के युद्ध स्मारक ‘स्मृतिका पर श्रद्धाजंलि समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर मध्य कमान के स्टाफ अध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल जेके शर्मा सहित सेवारत एवं सेवानिवृत सैन्यधिकारियों एवं जवानों ने उन जाबांज शहीद सैनिकों को श्रद्धाजंलि दी। इस दौरान सेना की एक टुकड़ी ने सलामी सशस्त्र दी तथा बिगुलर द्बारा अंतिम धुन बजाई गई। शहीद सैनिकों की दिवंगत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन भी रखा गया। सेना दिवस के अवसर मध्य कमान के आर्मी कमांडर द्बारा सैन्य एवं असैन्य कर्मियों को 161 प्रशंसा पत्र दिये । इसके अतिरिक्त आर्मी कमांडर ने यूनिटों, षैक्षणिक एवं प्रषिक्षण संस्थानों को उनके उत्कृट सेवा उपलब्ध कराने के लिए 1० यूनिट प्रशंसा पत्र भी दिये।

लखनऊ समेत 6 राज्यों के 26 शहरों में आयोजित हुए समारोह

सेना दिवस के उपलक्ष्य में मध्य कमान के अंतर्गत आनेवाले क्षेत्रों में 11 जनवरी 2०18 से विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया जिसमें ‘अपने सशस्त्र बल को जाने मेले के साथ-साथ मिनी मैराथन, सैन्य उपकरणों का प्रदर्षन तथा बैंड कंसर्ट का आयोजन शमिल है। इस दोैरान छ: राज्यों के 26 शहरों में यह समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर मध्य कमान मुख्यालय के तत्वावधान मं मध्य उत्तर प्रदेश सब एरिया द्बारा 7 किमी दूरी का एक मिनी मैराथन का आयोजन भी किया गया।

इसलिए मनाया जाता है सेना दिवस

सेना दिवस प्रत्येक वर्ष 15 जनवरी को प्रथम फील्ड मार्शल केएम करियप्पा की याद में मनाया जाता है, जो भारतीय सेना के सर्वप्रथम कमांडर-इन-चीफ बनें। इन्होंने सन् 1949 में सर फ्रांन्सिस बूचर से कमांडर-इन-चीफ का पद ग्रहण किया था। सेना दिवस के अवसर पर सेना उन बहादुर जवानों को सलामी देती है, जिन्होंने अपने जीवन को देश की रक्षा के लिए न्यौछावर कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 1 =