ये है यूपी एटीएस साल 2०17 में आंतकी को ढेर किया तो कई अपराधी पहुंचे जेल

लखनऊ। राजधानी समेत पूरे प्रदेश भर में आंतकियों और तमाम अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाने में बीते साल 2०17 में एटीएस ने अपनी अहम भूमिका निभायी है। एटीएस टीम ने जहां इसी साल आंतकी सैफुल्लाह को मार गिराया है तो वहीं एक से बढ़कर एक नामी अपराधियों को जेल का रास्ता भी दिखाया है। इसके अलावा कई अवैध हथियार और 7०० से अधिक जीवित कारतूस भी अपराधियों के पास से बरामद करने में सफलता हासिल की। कुछ ऐसी ही एटीएस की तमाम उपलब्धियां इंडिया न्यूज टाइम्स डॉट इन से बातचीत में एटीएस आईजी असीम अरूण ने बतायी।

8 मार्च को आंतकी सैफुल्लाह के ढेर किया
एटीएस ने इसी साल काकोरी थाना क्ष्ोत्र में 8 मार्च को आंतकी सैफुल्लाह को मुठभ्ोड़ में मार गिराया था। ये एक घर में छिपकर आंतकी घटना के अंजाम देने की तैयारी कर रहा था। कई घंटे चले आपरेशन के बाद एटीएस ने इसके पास से 8 पिस्टल 32 बोर 63० जिन्दा राउण्ड तथा 71 खोखा राउण्ड कारतूस,वाकी-टाकी सेट, गन पाउडर,पासपोर्ट, हस्त लिखित साहित्य,रियाल विदेशी मुद्रा के कुछ नोट तथा नकदी भी बरामद की थी। इसी प्रकरण में अन्य अभियुक्त मो. फैसल खांतथा, मो. अजहर को कानपुर से तथा फखरे आलम तथा शैलेन्द्र को इटावा से गिरफ्तार भी किया गया था।

आईएसआईएस से सम्बन्धित आतंकवादियों को भी दबोचा
एटीएस को आईएसआईएस के के संघठन के बारे में पता चला था, जो देश में आशंति फैलाने की शाजिश रच रहा था। बीते 2० अप्रैल को इस संघठन की साजिश को नाकाम करते हुए एटीएस ने संघठन के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया था। इस कार्य में स्थानीय पुलिस का भी सहारा लिया गया। जिसमें
1-उमर उर्फ़ नाज़िम निवासी बिजनौर को मुंबई से
2- गाज़ी बाबा उर्फ़ मुज़म्मिल उर्फ़ ज़ीशान निवासी उन्नाव को जालंधर पंजाब से
3- मुफ़्ती उर्फ़ फैज़ान निवासी बिजनौरको बिजनौर से
4-ज़कवान उर्फ़ अह्तेशाम उर्फ़ एस के उर्फ़ मिटू गिरफ़्तार किया गया।
5-अबू जैदनिवासी-आजमगढ़, कोको एअरपोर्ट, मुंबईसे गिरफ्तार किया गया।

आईएसआई एंजेटों को भी दबोचा
एटीएस ने बीते 3 मई को पाकिस्तानी खुफिया एंजेसी आईएसआई केक एंजेटों को भी दबोचा। पकड़े एंजेटों में आफताब अली को फैजाबाद से गिरफ्तार किया गया । इसी क्रम में महाराष्ट्र पुलिस के सहयोग से अल्ताफ भाई कुरैशी निवासी गुजरात को भी मुम्बई से गिरफ्तार किया गया आफताब की गिरफतारी के बाद मिले साक्ष्यों के आधार पर 4 मई 2०17 को जावेद को मुम्बई से गिरफ्तार किया गया।

लश्कर-ए-तैय्यबा कां आंतकी सलीम गिरफ्तार
बीते-17जुलाई को सलीम खाननिवासी जिला फतेहपुर को एटीस ने मुम्बई एअरपोर्ट से गिरफ़्तार किया । 2००8 में रामपुर एटा हमले के लिए गिरफ्तार आतंकियों कौसर और शरीफ ने बताया था कि सलीम भी उनके साथ 2००7 में मुज्जफराबाद में आतंकी ट्रेनिग किया था। सलीम के लिए लुक आउट नोटिस जारी किया गया था।

अंसारूल बांग्ला टीम(एबीटी)के विरुद्ध कार्यवाही
एटीएस ने अंसारूल बांग्ला टीम(एबीटी)के विरुद्ध कार्यवाही -6 अगस्त को की। इसमें बांग्लादेशी आतंकवादी अब्दुल्ला अल मामूनको मुजफ्फरनगर कुटेसरा से गिरफ्तार किया गया ।इसने फर्जी दस्तावेज के आधार पर अपना पासपोर्ट बनवाया था अब्दुल्लाह बांग्लादेश के प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन “अंसारुल बांग्ला से जुडा है। अब्दुल्लाह से ही जुडे तीन बांग्लादेशी युवकों मोहम्मद इमरान,रजीदुद्दीन तथामो. फिरदौस को 13 सितम्बर को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया। अंसार उल बांग्ला टीमके सदस्य तथा एटीएस के अभियोग में वांछित आतंकी तौहीद उर रहमान उर्फ फज़र अली की गिरफ्तारी पर 25,००० का इनाम भी घोषित किया गया है।

टाडा के आरोपी को गिरफ्तार किया
एटीएस ने 8 जुलाई को टाडा के आरोपी को गिरफ्तार किया। एटीएस की कार्रवाई में बिजनौर नजीबाबाद से कदीर अहमद का गिरफ्तार किया गया। 1993 मे मुंबई सीरियल ब्लास्ट के लिए टाइगर मेमन द्बारा सप्लाय किए गए हथियार और विस्फोटक जो जामनगर (गुजरात) मे उतरे थे, उसमे कदीर की भी भूमिका थी

5० हजार के इनामी नक्सली नीतेश गिरफ्तार
एटीएस ने 1 बीते 1 मार्च को 5० हजार इनामी नक्सली को भी गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार आरोपी का नाम नीतेश सिंह था जो कि बिहार का रहने वाला था। विरूद्ब हत्या, हत्या के प्रयास फिरौती हेतु अपहरण एवं अन्य गम्भीर अपराधों से संबंधित लगभग एक दर्जन से अधिक मामलों दर्ज हैं।

बब्बर खालसा के सदस्यों को भी दबोचा
एटीएस ने बीते 16 अगस्त को बब्बर खालसा के सदस्यों पर भी कार्रवाई की। एटीएस ने बलवंत सिह निवासी तरनतारन, पंजाब को लखनऊ से गिरफ्तार किया। उसके बाद 17 अगस्त को बब्बर खालसा के दुर्दांत सदस्य जसवंत सिह उर्फ काला निवासी पंजाब को उन्नाव से गिरफ्तार किया गया। नाभा जेल पटियाला, पंजाब से 2०16 में भागने वाले अभियुक्तों को असलहा सप्लाई करने एवं सहयोग देने के प्रकरण में 18 सितम्बर को अन्य वांछित अभियुक्त जितेन्द्र सिह टोनी , सतनाम सिह निवासी लखीमपुर को खीरी स तथा संदीप तिवारी निवासी सुल्तानपुर गिरफ्तार किया। 16 अगस्त को लखनऊ से गिरफ्तार बब्बर खालसा के अभियुक्त बलवंत सिह से हुई पूछताछ के क्रम में इनके नाम प्रकाश में आये थे।

अवैध टेलीफोन एक्सचेंज से आईएसडी कॉल में खेल करने वालों को पकड़ा
एटीएस ने अवैध टेलीफोन एक्सचेंज, सिमबाक्स चलाने वालों के विरूद्ब कार्यवाही इसी साल 25 जनवरी को की थी। इसमें कुल 11 अभियुक्तों को यूपी के विभिन्न जनपदों एवं नई दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था । इन लोगों के पास से 5 लैपटॉप,16 सिमबाक्स, लगभग 128 सिम, 29 मोबाईल फोन तथा अन्य सहवर्ती संचार सामग्री बरामद किया गया। 17 अप्रैल को नोएडा टीम ने भी अवैध टेलीफोन एक्सचेन्ज के प्रकरण में 6 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया। 19 अप्रैल को ही हरदोई सीतापुर से 7 अभियुक्तों को गिरफतार कर इनके पास से 48467 सिम,9 लैपटॉप, 58 फोन बरामद किया गया। 13नवम्बर को एटीएस तथा लखनऊ पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन में फर्जी एक्सचेंज चलाने वाले 3 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 5 सिम बॉक्स और 11० सिम बरामद किये।

स्पॉट का गठन रही विश्ोष उपलब्धि
आंतकवादियों को मौके पर ही मुहतोड़ जवाब देने और एटीएस को मजबूत बनाने के उद्देश्य से स्पॉट का गठन किया गया। प्रदेश सरकार द्बारा आतंकवाद के ख़तरे से प्रदेश को और अधिक सुरक्षित करने के उद्येश्य से वर्ष 2०17 में आतंकवाद निरोधक दस्ते में स्पॉट (स्पेशल पुलिस आपरेशन टीम) का गठन किया गया । इसके लिए 694 पदों की स्वीकृति प्रदान की गई । इसी के साथ एटीएस में 316 नए पद सृजित किए गए ताकि आतंकवादियों के बारे में अभिसूचना संकलन, इंटरनेट की निगरानी और घटनाओं की विवेचना तेजी से हो सके। स्पॉट में ०5 जनपदों की स्वॉट टीमों के 86 जवानों को प्रशिक्षित किया जा चुका है।
गयी।

सेना में फर्जी दस्तावेज पर भर्ती कराने वाले गिरोह को ध्वस्त किया
वाराणसी में सेना की भर्ती में कुछ विदेशी लोगो केगलत नाम पते से भर्ती होने की जांच करने पर पाया गया कि कुछ लोग फर्जी प्रमाण पत्र पर भर्ती हो गये है। इस प्रकरण में 23 अक्टूबर 2०17 को ०2 लोगों तथा 28 अक्टूबर को ०3 लोगों को वाराणसी से गिरफतार किया गया।

साल 2०17 में ये भी हुई बड़ी कार्रवाई
-8 जनवरी को कुशीनगर थाना तरयासुजान बिहार सीमा के सलेमगढ से 5 अभियुक्तो को गिरफ्तार कर उन कब्जे से 15 अवैध पिस्टल व 3० मैग्जीन बरामद की की गयी।
-27 मार्च को लखनऊ के क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय में सक्रिय गिरोहों पर कार्यवाही करते हुए छ: अभियुक्तों को गिरफतार कर उनके पास से कुल 73 पासपोर्ट , लेपटाप, कम्प्यूटर प्रिन्टर तथा अन्य कागजात आदि बरामद किया गया तथा 12 अप्रैल को सहायक पासपोर्ट अधिकारी सुधाकर रस्तोगी को गिरफ़्तार किया गया ।
-16 फरवरी को एनआईए के अभियोग में बांग्लादेशी महिला नागरिक फातिमा को आगरा से गिरफ्तार किया गया ।
-25 जुलाई कोकानपुर नगर के 4 शस्त्र विक्रेताओं को बिहार राज्य के कूट रचित शस्त्र लाइसेंसों पर शस्त्र बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया । इसी से संबंधित वांछित अभियुक्त उपेन्द्र सिह को बिहार से 14 नवम्बर को गिरफ्तार किया गयाा ।
28 मार्च को कानपुर के एक शस्त्र दूकानदार राघवेंद्र सिह चौहान निवासी कानपुर को आतंकी सैफुल्लाह प्रकरण में अवैध रूप से कारतूस सप्लाई के आरोप में गिरफ्तार किया गया।
-3मार्च आरक्षी चंद्रपाल को आगरा से स्थानीय पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार कर दो कार्बाइन बरामद की

-16 अप्रैल को एटीएस टीम ने सीआईसेल हैदाराबाद के वाछित अभियुक्त शिवबहादुर सिह को तथा 24 अप्रैल को शैलेश सिह को वाराणसी से सीआई सेल हैदराबाद के संयुक्त आपरेशन में गिरफ्तार किया।

-27 नवम्बर -को कलकत्ता पुलिस के सहयोग से एटीएस टीम नेतृणमूल नेता की हत्या के मामले में वाछित भद्रेश्वर हुगली पश्चिम बंगाल के 7 अभियुक्तों को गिरफ्तारकिया गया।

आंतकवाद से निपटने की चुनौतियां बेहद ही गंभीर है। इससे निपटने के लिए सरकार एटीएस को और मजबूत करने का काम कर रही है।  2०18 में एटीएस की ताकत और भी ज्यादा बढ़ेगी। इसमें नयी टेक्नोलॉजी सिस्टम को भी शामिल किया जा रहा है।
असीम अरूण आईजी यूपी एटीएस

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × two =