सेंट फ्रांसिस स्कूल से पकड़े गये तेंदुए को कैमूर वन्य जीव विहार भेजा गया

लखनऊ। बीते 13 जनवरी को ठाकुरगंज स्थित मूक बधिर सेंट फ्रांसिस स्कूल से पकड़े गये तेंदुए को अब शहर से बाहर  भेज दिया गया है। प्राणी उद्यान के निदेशक डा. उत्कर्ष शुक्ला ने बताया कि ठाकुरगंज क्षेत्र के सेन्ट फ्रांसिस स्कूल से एक नर तेंदुआ रेस्क्यू कर पकड़ा गया था। इस तेंदुए को आज सुरक्षित तरीके से प्राणी उद्यान से कैमूर वन्य जीव विहार में अवमुक्त करने के लिए रवाना कर दिया गया है।

दहशत की बीच 8 घंटे रहे बच्चे

लखनऊ। लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में स्थित सेंट फ्रांसिस मूक बधिर स्कूल में पूरे आठ घंटे बच्चों का समय दहशत में बीता। बच्चे रोजाना की तरह अपने समय से स्कूल पहुंचे थ्ो। लेकिन जो नजारा देखा तो बच्चे खौफ में आ गये। हालात ये हुए डरे सहमें बच्चे इशारों इशारों में लोगों से कुछ कहते देख्ो गये। दरअसल मामला ये था कि स्कूल में कहीं से एक तेंदुआ घुस गया था। बच्चोें ने जब उसे देखा तो हड़कंप मच गया। पुलिस और प्रशासन के अलावा प्राणि उद्यान की रेस्क्यू टीम के अलावा हजारों लोगों ने स्कूल को घेर लिया। करीब आठ घंटे तक दहशत और खौफ के बीच रेस्क्यू टीम ने तेंदुए को सुरक्षित तरीके से पकड़कर प्राणि उद्यान पहुंचा दिया।
स्कूल की सिस्टर ने सबसे पहले लॉन में देखा तेंदुआ
ठाकुरगंज की कैटिल कालोनी स्थित सेंट फ्रांसिस मूक बधिर स्कूल में शनिवार की सुबह करीब बजे तेंदुआ देखा गया। स्कूल की सिस्टर अनत ने सबसे पहले उसे लॉन में देखा। बाद में सीसीटीवी फुटेज में भी तेंदुआ दिखाई दिया तो पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद स्कूल प्रबंधन ने हॉस्टल को लॉक कर दिया। बच्चे अंदर ही रहे। मौके पर कई थानों की पुलिस और पीएसी बल पहुंच गया। पुलिस ने इस घटना की जानकारी वन विभाग को दी। इसके बाद लखनऊ प्राणि उद्यान की रेस्क्यू टीम वहां पहुंची।
जू के डिप्टी डायरेक्टर उत्कर्ष शुक्ला ने टीम के साथ पकड़ा तेंदुआ
लखनऊ जू के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. उत्कर्ष शुक्ला अपनी टीम के साथ मिलकर तेंदुए को बड़ी मुश्किल में बेहोश किया जिसके बाद उसे पिंजरे में कैद किया जा सका। इस पर डा. उत्कर्ष शुक्ला ने ने कहा कि अगर तेंदूए से कोई छेड़छाड या फिर समय से नहीं सूचना दी गयी होती तो कई बच्चों को नुकसान पहुंच सकता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two + four =