विधानसभा में विपक्ष के हंगामे से सीएम योगी हुए सख्त, विपक्षी दलों को दी ऐसी चेतावनी

file fhoto

लखनऊ। मंगलवार को विधान परिषद में विपक्षी दलों ने जमकर हंगामा काटा। इस कारण से करीब 2० मिनट तक सदन की कार्रवाई को रोक दिया गया। दरअसल विपक्ष कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी के बायान से काफी नाराज था। मंत्री नंद गोपाल नंदी की ओर से एक बयान में मुलायम सिंह को रावण व मायावती को शूर्पनखा कहे जाने से सरकार को विपक्ष की नाराजगी का सामना करना पड़ा। लेकिन दोबारा सदन शुरू होते ही सीएम योगी ने सभी दलों को सख्त चेतावनी दे डाली। कहा कि देश को तोड़ने की साजिश नहीं चलने दी जायेगी देश तोड़ने वालों को हम तोड़ देंगे।
भगवा देश तोड़ने का कर रहा काम
दरअसल सदन की कार्रवाई शुरू होते ही नंद गोपाल नंदी के बयान को लेकर विपक्ष ने हंगामा शुरू किया और कहा भगवा देश को तोड़ने का काम कर रहा है। नंदी के बयान को आधार बनाते हुए विपक्ष ने उनकी बर्खास्तगी की भी मांग की है। साथ ही दोनो पार्टियों ने नंदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित करने को कहा।

नंदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित करने की मांग
सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सपा और बसपा नेता नारेबाजी कर नंद गोपाल को बर्खास्त करने की मांग करने लगे। दोनों ही पार्टियों के नेताओं ने नंदी के खिलाफ निदा प्रस्ताव पारित करने की मांग की। विपक्ष ने कहा कि भगवा सिर्फ देश को तोड़ने का काम कर रहा है। इस दौरान सभापति ने भी विपक्षी दलों से सदन शांति से चलने देने की अपील की लेकिन जब शांति नहीं हुई तो वह सदन छोड़कर खुद चले गये।
जबरन नहीं चलाया जा सकता है लोकतंत्र
हंगामे बाद दोबारा शुरू हुई सदन में सीएम योगी ने कहा कि जो देश तोड़ने का आरोप लगा रहे हैं, उनको ये जानन्ो की जरूरत है कि भारत अंखड था और रहेगा भी ऐसे में भारत तोड़ने वालों को हम खुद तोड़ देंगे। उन्होंने ये कहा जबरन लोकतंत्र नहीं चलाया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three − 1 =