कोटा, राजस्थान से यूपी लौटे छात्रों को क्वारेंटाइन में रखने के आदेश

न्यूज डेस्क। राजस्थान कोटा से छात्रों को वापस लेकर आयी योगी सरकार अब इन्हे क्वारेंटाइन में रखेगी। इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया गया है। वहीं अधिक जानकारी देते हुए सोमवार को अपर मुख्य सचिव गृह व सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए हैं कि कोटा, राजस्थान से प्रदेश वापस लौटे सभी विद्यार्थियों की स्क्रीनिंग कराकर होम क्वारेंटाइन में अवश्य रखे जाने के निर्देश दिए हैं। यह सुनिश्चित किया जाए कि इन विद्यार्थियों द्वारा ‘आरोग्य सेतु’ एप डाउनलोड करने के बाद ही उन्हें घर भेजा जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी दशा में सुरक्षा चक्र न टूटने पाए इसके लिए पूरी सतर्कता बरतना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि पिछले तीन दिनों में कोटा से लगभग 10,500 विद्यार्थियों को बसों के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए लाया गया, सभी विद्यार्थियों की स्क्रीनिंग, जांच के उपरान्त उन्हें उनके घर पर होम क्वारेंटाइन किया गया। राजस्थान के कोटा में फंसे यूपी के छात्रों को परिवहन निगम की दो बसे रविवार को राजधानी लेकर लौटी, सोशल डि​स्टेसिंग का पालन करते हुए बस में बैठे छात्रों ने योगी सरकार को धन्यवाद दिया है। बातचीत में छात्रों ने बताया कि लॉकडाउन का पार्ट वन तो किसी तरह से पार कर लिया था लेकिन लॉकडाउन टू के दौरान समस्याएं बढ़ रही थी, साथ ही प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने में भी समस्या हो रही थी। रविवार को दो बसो में पहुंचे 61 छात्रो की
बीबीडी में स्कैनिंग हुई। वहीं, गैर जनपद के छात्र-छात्राओं को जांच के बाद सचेत करते हुए बसों को गंतव्य की ओर रवाना कर दिया गया। सिटी मजिस्ट्रेट एसपी सिंह और एसडीएम सदर सूर्यकांत त्रिपाठी की मौजूदगी में डॉ. जेके शाही ने बीबीडी में छात्र-छात्राओं की जांच की। ये बच्चे राजस्थान के कोटा जिले में इंजीनियर‍िंंग और मेडिकल की पढ़ाई की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान लॉकडाउन की घोषणा हो गई। इनमें हजारों की तादात में यूपी के विद्यार्थी फंस गए। जैसे ही सोशल मीडिया के माध्यम से इसकी सूचना पहुंची, राज्य सरकार ने लौटाने का इंतजाम किया। आगरा, झांसी समेत विभिन्न क्षेत्रों से 300 रोडवेज बसों को कोटा के लिए रवाना कर दिया। वहां से यूपी के विभिन्न जिलों के छात्रों की वापसी का सिलसिला शनिवार से शुरू हो गया था। छात्रों ने बताया कि अपने घर पहुंचकर वह परीक्षा की तैयारियां भी कर सकेंगे साथ ही उनका आसानी से भरण पोषण भी हो सकेगा। बता दें कि राजस्थान के कोटा में रहकर प्रदेश के अलग—अलग जिलों से 7500 छात्र पढ़ाई कर रहे थे। लेकिन लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ने के बाद छात्रों के सामने रहने खाने की ​समस्या उत्पन्न हो गयी, जिसके बाद छात्रों ने योगी सरकार से मदद मांगी तो प्रदेश सरकार ने परिवहन निगम की 250 बसों को राजस्थान के लिए रवाना किया था, जो अब छात्रों को वापस लाने में जुटी हुई हैं। इससे पहले कोटा के एसपी गौरव यादव ने जानकारी दी थी कि से 7500 बच्चे रवाना हो चुके हैं।
अपनो से मिले छात्र तो भावुक हो गयी आंखे, मुख्यमंत्री को कहा धन्वयाद

लखनऊ पहुंचकर अपनो से जब छात्रों ने मुलााकत की तो आंखे भावुक हो गयी। इस दौरान छात्रों ने मीडिया को बताया कि रास्ते में उन्हें कोई तकलीफ नहीं हुई साथ ही प्रदेश सरकार ने उनके खाने पीने के लिए भी व्यवस्था किया था। छात्रों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्वयाद भी दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 9 =