प्रवासी भारतियों की सुविधा के लिए जल्द ही एक सरल और आकर्षक वेबसाईट होगी शुरू

-हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होगी वेबसाइट, दिव्यांगजन भी कर सकेंगे इस्तेमाल

-प्रदेश के प्रमुख विभागों पर्यटन, हेल्थ टूरिज्म, शिक्षा, ओ0डी0ओ0पी0 तथा निवेश को वेबसाइट से दिया जायेगा लिंक

-एनआरआई मंत्री ने की निर्माणाधीन वेबसाइट की समीक्षा

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन, एनआरआई, खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग, वस्त्र उद्योग तथा निवेश प्रोत्साहन मंत्री  सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि नये उत्तर प्रदेश के लिए एन0आर0आई0 विभाग नये कलेवर के साथ प्रवासी भारतियों को आकर्षित करेगा। इसके लिए शीघ्र ही प्रवासी भारतियों की सुविधा हेतु एक सरल और आकर्षक वेबसाइट शुरू की जायेगी। इस वेबसाइट को हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में तैयार कराया जा रहा है। दिव्यांगजन भी इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकेंगे। साथ ही प्रदेश के प्रमुख विभागों पर्यटन, हेल्थ टूरिज्म, शिक्षा, ओ0डी0ओ0पी0 तथा निवेश को सीधे इससे लिंक दिया जायेगा। उन्होंने आगामी 15 अप्रैल तक वेबसाइट के निर्माण का कार्य पूर्ण कराने के निर्देश अधिकारियों को दिये। इसके अतिरिक्त उन्होंने वेबसाइट के संचालन हेतु प्रोजेक्ट मानीटरिंग यूनिट (पीएमयू) गठित करने के भी निर्देश दिए हैं।

      श्री सिंह आज अपने कार्यालय कक्ष में यूपीडेस्को द्वारा तैयार की जा रही प्रवासी भारतीय विभाग की वेबसाइट का अवलोकन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वेबसाइट में एनआरआई का डाटा एकत्रित कराने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से भारतीय प्रवासी, प्रवासी एसोसिएशन के अध्यक्ष तथा सभी एम्बेसडर को पत्र भेजने का अनुरोध किया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि यह वेबसाइट आसानी से लोगों तक पहुंचे, इसके लिए ख्याति प्राप्त सर्च इंजन गूगल, याहू आदि पर लिंक डलवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के एनआरआई विभाग में पहले तीन प्रकार की वेबसाइट प्रचलन में थी। प्रवासी भारतीयों की सुविधा का ख्याल रखते हुए इसको एकीकृत रूप दिया जा रहा है। इससे एनआरआई एक ही प्लेटफार्म पर तमाम प्रकार की जानकारियां एवं सेवाएं प्राप्त कर सकेंगे।

      एन0आर0आई0 मंत्री ने कहा कि यह वेबसाइट यूनीफाइड सिस्टम के तहत कार्य करेगी और समय-समय पर इसका सिक्यूरिटी आडिट भी कराया जायेगा। रजिस्टेªशन के लिए ईमेल से लिंक की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। इसके माध्यम से प्रवासी भारतीयों को रजिस्ट्रेशन/वेरीफिकेशन एवं नवीनीकरण की सहूलियत मिलेगी। इसके तहत प्रवासी भारतीयों के लिए यू0पी0 एन0आर0आई0 कार्ड की सुविधा दी जायेगी। साथ ही पेमेंट की आॅनलाइन सुविधा भी उपलब्ध कराई जायेगी। इस कार्ड के माध्यम से एनआरआई को पर्यटन स्थलों पर भ्रमण, निवेश आदि की सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि प्रवासी भारतीय एनआरआई दिवस में शामिल होने तथा प्रवासी रत्न पुरस्कार के लिए भी वेबसाइट पर आवेदन कर सकेंगे।

      श्री ंिसंह ने कहा कि नई वेबसाइट पर जाॅब सीकर (रोजगार के इच्छुक) व्यक्तियों के लिए रजिस्ट्रेशन की सुविधा होगी। ई-माईग्रेट वेरीफिकेशन भी कराया जायेगा। एनआरआई को आॅनलाइन चैट की व्यवस्था भी दी जायेगी। सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सअप, फेसबुक, ट्विटर आदि को इससे जोड़ा जायेगा। प्रदेश सरकार द्वारा निवेश को आसान बनाने के लिए लागू की गई सभी नीतियों को इस पर अपलोड किया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि वेबसाइट पर एक्सप्रेस-वे की जानकारी भी उपलब्ध रहेगी।

      प्रजेंटेशन के दौरान भारत सरकार के मिनिस्ट्री आॅफ इन्टरनल अफेयर के उच्चाधिकारी सहित एनआरआई विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार एवं विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × three =