लखनऊ विश्वविद्यालय में पढ़ाई के साथ शोध को मिलेगा बढ़ावा, कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय साइन किया एमओयू

लखनऊ विश्वविद्यालय में पठन पाठन के साथ—साथ शोध को बढ़ावा देने के लिए मंगलवार को एमओयू साइन किया गया है। इस बारे में जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के प्रवक्ता डॉ दुर्गेश श्रीवास्तव ने बताया कि ये एमओयू रायबरेली लखनऊ कैंपस व लखनऊ विश्वविद्यालय के मध्य एक मेमोरेंडम आफ अंडरस्टैंडिंग पर साइन हुआ है। इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय व निदेशक प्रोफेसर स्वर्ण जीत सिंह फ्लोरा उपस्थित थे।

उन्होंने बताया कि इस एमओयू के हो जाने से दोनों संस्थानों के वैज्ञानिकों शिक्षकों शोध छात्रों तथा स्नातक एवं स्नातकोत्तर छात्र छात्राओं के मध्य पठन-पाठन एवं शोध के कार्यों का आदान प्रदान संभव हो सकेगा तथा दोनों ही संस्थानों में उपलब्ध संसाधनों का प्रयोग एक दूसरे के द्वारा सुगमता एवं सरलता से संभव हो सकेगा प्रोफेसर फ्लोरा ने इस इस अवसर पर कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय को अपने संस्थान पर आमंत्रित किया तथा लखनऊ विश्वविद्यालय को फार्मेसी कोर्स के लिए अपने तथा अपने संस्थान के द्वारा हर संभव सहायता का आश्वासन दिया इस अवसर पर लखनऊ विश्वविद्यालय की डीन रिसर्च प्रोफेसर मोनिशा बनर्जी डीन एकेडमिक प्रोफेसर अरविंद मोहन जीव रसायन विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर सुधीर मेहरोत्रा डीन स्टूडेंट वेलफेयर ऑफिसर पूनम टंडन एवं जीव रसायन विज्ञान विभाग की डॉ कुसुम यादव मुख्य रूप से उपस्थित रहे एवं एमओयू के साक्षी बने।